नई दिल्ली: प्याज की बढ़ती कीमतों को काबू में करने के लिए भारत सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। सरकार ने 1 लाख टन प्याज आयात करने की घोषणा की है। कुछ स्थानों पर खुदरा बाजार में प्याज का मूल्य लगभग 100 रुपये प्रति किलोग्राम तक जा पहुंचा है।

सरकारी स्वामित्व वाली व्यापार कंपनी एमएमटीसी आयात करेगी। जबकि सहकारी संस्था नैफेड घरेलू बाजार में इसकी आपूर्ति करेगी।

केंद्रीय खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने एक ट्वीट में कहा, “सरकार ने कीमतों को नियंत्रित करने के लिए एक लाख टन प्याज आयात करने का निर्णय किया है।”

उन्होंने कहा कि एमएमटीसी को 15 नवंबर से 15 दिसंबर के बीच आयात करने और घरेलू बाजार में वितरण के लिए इसे उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है। मंत्री ने कहा कि नाफेड को देश भर में आयातित आपूर्ति करने का निर्देश दिया गया है।

पिछले सप्ताह भारत सरकार ने कहा था कि वह प्याज की घरेलू आपूर्ति को बढ़ाने के लिए संयुक्त अरब अमीरात सहित अन्य देशों से इस सब्जी का पर्याप्त मात्रा में आयात करेगी। MMTC के अनुसार इस संबंध में निकाली गयी एक निविदा 14 नवंबर को बंद होगी और दूसरी 18 नवंबर को।

निविदा के मुताबिक प्याज की 2,000 टन की पहली खेप तुरंत भारतीय बंदरगाहों पर पहुंचनी चाहिए, जबकि दूसरे को दिसंबर-अंत तक लाया जा सकता है।

बोलीदाताओं को न्यूनतम 500 टन प्याज की बोली लगानी होगी। अंतर्देशीय कंटेनर डिपो के मामले में, न्यूनतम बोली मात्रा 250 टन होगी। आवश्यकता के आधार पर 250 टन की इकाइयों में सटीक आपूर्ति आदेश को विनियमित किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि एमएमटीसी को 2,000 टन प्याज आयात करने के लिए अपनी पहली निविदा के लिए अच्छी प्रतिक्रिया हासिल नहीं हुई थी।

यह भी पढ़ें: चीन पर पड़ी महंगाई की मार, आठ साल में सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंची

the gandhigiri, whatsapp news broadcast

Published by Manish Maurya

Manish Murya is native of Azamgarh district of Uttar Pradesh state in India. He is under trainee for correspondent. He works as freelancer. Contact him via mail mauryamaneesh333@gmail.com or call him at +91-7348594530