होम Crime | अपराध हॉर्न बजाने पर दलित युवक को दबंगों ने बेरहमी से पीटा

हॉर्न बजाने पर दलित युवक को दबंगों ने बेरहमी से पीटा

623
bullies-brutally-beaten-dalit-youth-for-playing-horn
The-Gandhigiri-tg-website-designer-Developer-lucknow

सगड़ी: जिला आज़मगढ़ के जीयनपुर कोतवाली के बालापुर गांव में साइड के लिए गाड़ी का हॉर्न बजाने पर दबंगों ने दलित मजदूर (Dalit Labour) की बेरहमी से पिटाई कर दी। घटना की सूचना मिलते ही मानवाधिकार संगठन रिहाई मंच (Rihai Manch) ने घायल से मुलाकात कर हर स्तर पर इंसाफ की लड़ाई लड़ने का वादा किया। प्रतिनिधि मंडल में एडवोकेट हेमंत, उमेश कुमार, सामाजिक कार्यकर्ता दीपक शामिल रहे।

रिहाई मंच से उमेश कुमार ने परिवार से बात किया तो घायल राम प्रवेश पुत्र रामकरन ने बताया कि वह 31 दिसंबर की सुबह लगभग 10 बजे खेत की सिंचाई के लिए डीजल लेने बाजार जा रहा था। रास्ते में कई लोगों के साथ विशाल मिश्रा खड़ा था।


साइड मांगने के लिए रामप्रवेश ने हॉर्न बजाया, तो विशाल मिश्रा रामप्रवेश को जातिसूचक गालियां देते हुए मारने-पीटने लगा। शोर मचाने पर गांव वाले पहुंचे तो मामला किसी तरह से शांत हुआ और रामप्रवेश अपने घर वापस लौट गया।

कुछ देर के बाद जब राम प्रवेश और बृजेश कुमार अपने खेत की सिंचाई कर रहे थे तभी विशाल मिश्रा गोल बनाकर लगभग 25 लोगों के साथ वहां पहुंचा और हॉकी, डंडा, चाकू के साथ बृजेश कुमार और रामप्रवेश पर टूट पड़े और दोनों को बुरी तरह से मारा-पीटा, जिसमें बृजेश बुरी तरह घायल हो गया।

घटना की सूचना जीयनपुर कोतवाली को दी गई जहां एफआईआर दर्ज होने के बाद भी किसी तरह की कार्यवाही नहीं हुई है। पीड़ित परिवार का आरोप है कि दबंग अभी भी उन्हें धमकियां दे रहे हैं।

रिहाई मंच (Rihai Manch) से परिवार दुख व्यक्त करते हुए कहा, ‘हम गरीब मजदूर हैं, हमारे लड़को पर जान से मारने की नियति से अपराधियों ने हमला किया है। अपराधी अभी भी खुला घूम रहे हैं और जान से मारने की धमकियां भी दे रहे हैं। न्याय की जगह योगी सरकार की पुलिस ने हमें कागज का टुकड़ा पकड़ा दिया है। अभी तक कोई अपराधी गिरफ्तार नहीं हुआ।’

पीड़ित परिवार ने आरोप लगाते हुए कहा कि, ‘आए दिन दलितों (Dalit) पर जानलेवा हमले हो रहे हैं और योगी सरकार में हम गरीब लोग बिल्कुल सुरक्षित नहीं हैं। हमले को आज कई दिन हो गए फिर भी कोई अपराधी गिरफ्तार नहीं हुआ। क्या पुलिस और अपराधियों की कोई मिली भगत है?’

उधर गांव वालों ने भी मंच से बताया कि दबंगों की दबंगई अभी भी जारी है। सुबह से लेकर शाम तक मोटरसाइकिल से राउंड कर रहे हैं। आते-जाते गालियां दे रहे हैं, जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। पूरा गांव न्याय की मांग कर रहा है।

रिहाई मंच महासचिव राजीव यादव ने कहा कि आए दिन योगी सरकार में दलितों, पिछड़ों, अल्पसंख्यकों, महिलाओं पर अत्याचार हो रहे हैं। इनको रोकने में यूपी पुलिस नाकाम है। इंसाफ के लिए हर स्तर पर लड़ा जाएगा।

the-gandhigiri-telegram-channel