Home Apradh Samachar हिन्दू लड़कियों को ही बदनाम कर रहे हिन्दुत्ववादी

हिन्दू लड़कियों को ही बदनाम कर रहे हिन्दुत्ववादी

153
fake news of shivani and riya

thegandhigiri-news-app-may-2020

एक बार फिर सोशल मीडिया पर लव जिहाद की झूठी खबर फैलाई गई है। पाकिस्तान की हाजरा को शिवानी बता कर ‘लव जिहाद‘ का हवाला दिया जा रहा है। यही नहीं, मुस्लिम पति ने शिवानी को बुरी तरह पीटा, ऐसा भी कहा जा रहा है। फेसबुक से लेकर ट्वीटर और वट्सएप तक में इस झूठी खबर को तेजी से शेयर किया जा रहा है।

सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही इन तस्वीरों के साथ लिखा है कि,

“आपको याद होगा रमजान महीने में ये खबर खूब चली थी, शिवानी और रिया नामक हिन्दू बेटियों ने हिन्दू-मुस्लिम एकता की मिसाल दी ।  अरे क्यों दी, ये भी तो बताते ?? शिवानी ने पहले तो रोजा रखा, आज इस शिवानी के मजहबी पति ने ठुकाई कर दी । सारी गंगा जमुनी तहजीब निकल गयी पिछवाड़े से । लव जिहाद हुआ था मजहबी से शिवानी का, अब भुगत रही है. उम्मीद है जल्दी ही रिया का भी ऐसा कोई फोटो आये तो अचरज मत करना ।”

यह भी पढ़ें: ट्रंप से मुलाकात के बाद इमरान खान ने आतंकवाद पर किया यह बड़ा खुलासा, खोली पिछली सरकारों की पोल

यह भी पढ़ें: देखें, इज़राइल समर्थक इस सऊदी अरबियन को ‘मस्जिद अल अक्सा’ से कैसे बेइज्जत कर बाहर निकाला

सोशल मीडिया नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर ‘वी सपोर्ट हिन्दुत्वा’ नाम के एक ग्रुप में पुरानी तस्वीरों के साथ झूठी अफवाह उड़ाई जा रही है। दरअसल, कुछ समय पहले रमज़ान के महीने में मध्य प्रदेश की दो हिन्दू लड़कियां शिवानी और रिया ने एक दिन का रोज़ा रखा था। इन दोनों लड़कियों ने हिन्दू मुस्लिम एकता और ईश्वर अल्लाह पर विश्वास कर आपस में सौहाद्र बनाये रखने की मिशाल दुनिया के सामने पेश की थी। जिसकी सभी धर्म के लोगों ने काफी तारीफ भी की थी।

शिवानी और रिया ने रखा एक दिन का रोज़ा

अब वही शिवानी और रिया की तस्वीर को पाकिस्तान के लाहौर की रहने वाली हाजरा के साथ जोड़ कर दिखाया जा रहा है। बीती 29 मार्च 2019 को हाजरा की घरेलू हिंसा की खबर पाकिस्तानी न्यूज चैनल ‘जीईओ टीवी’ पर चली थी। खबर के मुताबिक हाजरा के पति ने उसके साथ मार पीट कर घरेलू हिंसा की थी। घटना के बाद हाजरा के पति को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया था।.

hajra, lahor, pakistan

झूठी ख़बरें फ़ैलाने में माहिर है बीजेपी समर्थक शैलेंद्र

 

झूठी खबरें पोस्ट करने वाले बीजेपी समर्थक शैलेंद्र ने भी इसे अपने ट्वीटर एकाउंट पर पास्ट किया है। ऐसी झूठी खबरों को सोशल मीडिया पर पोस्ट करने का मकसद मुस्लिम समुदाय के लोगों को टार्गेट करना होता है। आपसी सौहाद्र को बिगाड़ना और अन्य मुद्दों से लोगों को भटकाना होता है।

अन्य ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

https://www.thegandhigiri.com/49-celebrities-sent-letter-to-pm-modi-asks-on-mob-lynching/