Home Apradh Samachar लखनऊ – नोएडा में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू, जानिये क्या बदलाव होंगे..?

लखनऊ – नोएडा में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू, जानिये क्या बदलाव होंगे..?

46
उत्तर प्रदेश पुलिस, लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, Police Commissioner System implemented in Uttar Pradesh, Lucknow and Noida, Police Commissioner System, What is Police Commissioner System

thegandhigiri-news-app-may-2020

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) और दिल्ली से सटे नोएडा (Noida) में सबसे पहले पुलिस कमिश्नर प्रणाली (Police Commissioner System) लागू कर दी गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की उपस्थिति में हुई बैठक में इस पर मुहर भी लग गई है।

बैठक में मुंबई व गुरुग्राम में लागू पुलिस कमिश्नर प्रणाली (Police Commissioner System) के मॉडल पर चर्चा की गई, जिसके बाद इस प्रणाली को लागू करने पर सहमति बनी। सुजीत पाण्डेय लखनऊ के पहले पुलिस कमिश्नर ((Police Commissioner Sujeet Pandey)) होंगे वहीं गौतमबुद्ध नगर के पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ((Police Commissioner Alok Singh) होंगे।

कमिश्नर प्रणाली क्या होती है? इससे कानून व्यवस्था में किस तरह के बदलाव आएंगे और किस स्तर के अधिकारी को इन दोनों जिलों में कमिश्नर बनाया गया…?

कमिश्नर प्रणाली क्या है..?

आजादी से पहले अंग्रेजों के दौर में कमिश्नर प्रणाली लागू थी जो आजादी के बाद हमारी पुलिस ने अपनाया। इस वक्त यह व्यवस्था 100 से अधिक महानगरों में सफलतापूर्वक लागू है।

भारतीय पुलिस अधिनियम, 1861 के भाग 4 के तहत जिलाधिकारी के पास पुलिस पर नियंत्रण करने के कुछ अधिकार होते हैं। इसके अलावा, दण्ड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी), एक्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट को कानून और व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए कुछ शक्तियां देता है।

अगर इसे सामान्य भाषा में समझें तो पुलिस अधिकारी कोई भी फैसला लेने के लिए स्वतंत्र नहीं हैं। वे आकस्मिक परिस्थितियों में डीएम या मंडल कमिश्नर या फिर शासन के आदेश अनुसार ही कार्य करते हैं।

पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू होने के बाद जिला अधिकारी और एक्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट के ये अधिकार पुलिस अधिकारियों को मिल जाते हैं।

अब पुलिस अधिकारी कोई भी फैसला स्वतंत्र रूप से ले सकते हैं। सीधे शब्दों में कहे तो विवादों में अक्सर घिरे रहने वाली उत्तर प्रदेश पुलिस को और अधिक शक्ति प्रदान कर दी गई है।

यह भी पढ़ें: मध्यप्रदेश क्राइम ब्रांच पुलिस इन्दौर की बड़ी कार्यवाही, अवैध हथियार की खरीद फरोख्त तथा तस्करी करने वाले कुल 04 आरोपी गिरफ्तार