होम Big News | बड़ी खबर पीएम मोदी बोले, ‘तिरंगे का अपमान देख देश बहुत दुखी हुआ’, जनता...

पीएम मोदी बोले, ‘तिरंगे का अपमान देख देश बहुत दुखी हुआ’, जनता बोली ‘मन की बात’ भी राजनीतिक नफा-नुकसान देख कर करोगे क्या?

republic-day-lal-kila-farmers-protest-and-pm-modi-mann-ki-baat
The-Gandhigiri-tg-website-designer-Developer-lucknow

दिल्ली/लखनऊ: गणतंत्र दिवस (Republic Day of India) के दिन लाल किले (Red Fort) पर हुए हंगामे को लेकर पीएम मोदी ने अपने ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat) कार्यक्रम में प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि, ‘दिल्ली में 26 जनवरी को तिरंगे का अपमान देख, देश बहुत दुखी भी हुआ.’

प्रधानमंत्री की प्रतिक्रिया पर पलटवार करते हुए किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने जवाब दिया कि, ‘तिरंगा सिर्फ प्रधानमंत्री मोदी का है क्या? सारा देश तिरंगे से प्यार करता है. जिसने तिरंगे का अपमान किया है, सरकार उसे पकड़े.’

राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने आगे कहा कि 26 जनवरी को जो कुछ भी हुआ वो एक साजिश का नतीजा था, जिसकी व्यापक जांच होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि, ‘तिरंगा सबसे ऊपर है, हम कभी तिरंगे का अपमान नहीं होने देंगे. किसान आंदोलन को बदनाम करने के लिए यह घिनौनी साजिश रची गई है. सच सबके सामने आना चाहिए.’

वहीं, भारतीय जन नायक पार्टी (Bhartiya Jan Nayak Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष कुमार यादव (Santosh Kumar Yadav) ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि, पहले तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपना तथाकथित ‘मन की बात’ वाले ढकोसले को बंद कर किसान और देश की जनता के मन की बात सुने.’

उन्होंने कहा कि, ‘महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार और अपराध पर नियंत्रण खो चुकी भाजपा सरकार अब पूरे देश को पूंजीपतियों के हाथों बेचने वाला हर महीने एक नया काला कानून बना कर हम पर जबरन थोप रही है. जो कोई भी इसके खिलाफ आवाज उठाता है उसे गंदी राजनीतिक साजिश रच कर गोदी मीडिया के जरिये देशद्रोही साबित कर दिया जाता है.’

संतोष यादव (Santosh Yadav) ने कहा कि, ‘जिस पन्नू ग्रुप ने 26 जनवरी पर बवाल मचाया उस पर किसान नेता पहले ही गंभीर आरोप लगा चुके हैं. गणतंत्र दिवस के दिन देश के सबसे सुरक्षित स्थल ‘लाल किले’ पर कैसे पन्नू ग्रुप के लोग घुस गए और आसानी से झंडा फहरा दिया? तिरंगे का अपमान करने वाला शख्स बीजेपी सपोर्टर है जिसकी फोटो पीएम मोदी और सनी देओल के साथ है.’

भारतीय जन नायक पार्टी (Bhartiya Jan Nayak Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने आगे कहा, ‘दिसंबर 2017 को जब एक हत्यारे के समर्थन में उन्मादी भीड़ ने राजस्थान के उदयपुर कोर्ट की छत पर धार्मिक झंडा फहरा कर देश और धार्मिक भावनाओं को आहत किया था तब माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ‘मन की बात’ को जनता के साथ साझा नहीं किया था. शायद इसलिए, क्यूंकि वो मामला तथाकथित ‘लव जिहाद’ से जुड़ा था और इससे हर सूरत भाजपा सरकार को फायदा ही मिल रहा था. पीएम मोदी अपने ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat) भी राजनीतिक नफा-नुकसान देख कर ही करते हैं.

 Watch Video

उन्होंने कहा कि, आज देश का अन्नदाता जब अपने हक की लड़ाई लड़ रहा है तो उसके आंदोलन को कमजोर करने के लिए इस तरह की घिनौनी साजिशें रची जा रही है. मोदी सरकार को अपने खिलाफ हो रहे किसी भी आंदोलन को खत्म करने के लिए तथाकथित देशद्रोही वाला फार्मूला मिल गया है. लेकिन इस बार इनका यह फार्मूला काम नहीं आएगा. केवल अंधभक्तों को छोड़ कर देश की जागरूक जनता सब समझ चुकी है.

अन्य बड़ी खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें

the-gandhigiri-telegram-channel