झारखंड मॉब लिंचिंग की घटना पर ओवैसी ने कहा कि यह अब रुकने वाला नहीं है

asaduddin owaisi on jharkhand mob linching, ओवैसी, झारखंड मॉब लिंचिंग, तबरेज़ अंसारी, मॉब लिंचिंग की घटना, असदुद्दीन ओवैसी, आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन, बीजेपी, आरएसएस, मुसलमान,

झारखंड के खरसावां जिले में चोरी के शक में तबरेज़ अंसारी नाम के एक युवक की ग्रामीणों ने 18 घंटों तक जम कर पिटाई की. तबरेज़ की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई. झारखंड मॉब लिंचिंग की घटना पर आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने बड़ा बयान दिया है.

jharkhand mob linching, tabrez ansari, झारखंड मॉब लिंचिंग, तबरेज़ अंसारी,

सांसद ओवैसी ने भारत में हो रही मॉब लिंचिंग का ज़िम्मेदार बीजेपी और संघ को ठहराया है. एएनआई को दिए बयान में उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाएं अब रुकने वाली नहीं हैं. क्योंकि बीजेपी और आरएसएस ने मुसलमानों के खिलाफ नफरत की भावना लोगों में बढ़ा दी है.

झारखंड मॉब लिंचिंग की घटना पर ओवैसी ने आगे कहा कि बीजेपी और आरएसएस ने सफलतापूर्वक लोगों में ऐसी मानसिकता पैदा कर दी है. जहां मुसलमानों को आतंकवादी, देशद्रोह और गौ हत्यारे के रूप में देखा जाता है.

भारत में मॉब लिंचिंग

आपको बता दें कि केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद से मॉब लिंचिंग और धार्मिक उन्माद जैसी घटनाओं में करीब 200 प्रतिशत की बढ़ौतरी दर्ज की गई है. साल 2017 में पेव रिसर्च सेंटर की रिपोर्ट में भी भारत धार्मिक हिंसा में विश्वस्तरीय चौथे पायदान पर था. जहां पहले, दूसरे और तीसरे पर सीरिया, नाइजीरिया और इराक था.

यह भी पढ़ें : 2013 मुजफ्फरनगर हिंसा के गवाह को फर्जी मुठभेड़ में मारना चाहती है पुलिस – रिहाई मंच

बताया जा रहा है कि यह घटना करीब एक सप्ताह पुरानी है. सोशल मीडिया पर इस घटना की वीडियो वायरल होने के बाद राज्य सरकार ने भी कुछ सख्त कदम उठाये हैं. इस मामले में थाना प्रभारी को सस्पेंड कर रघुवर सरकार ने जांच की ज़िम्मेदारी एसआईटी को सौंप दी है.

कैसे हुई मॉब लिंचिंग की घटना

जानकारी के मुताबिक एक बाइक पर सवार तीन युवक जमशेदपुर के आजादनगर से वापस गांव लौट रहे थे. इसी बीच सरायकेला थाना अंतर्गत धातकीडीह गांव के ग्रामीणों ने तीनों युवकों को चोरी के शक में धर दबोचा.

हालांकि दो अन्य युवक अपनी जान बचा कर भागने में सफल रहे. लेकिन मृतक तबरेज़ अंसारी उर्फ सोनू को ग्रामीणों ने बिजली के खंभे से बांधकर पूरी रात पिटाई की.

करीब 18 घंटों से अधिक समय तक युवक की पिटाई करने के बाद उसे पुलिस को सौंप दिया. जिसके बाद गंभीर हालत में तबरेज़ को अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां कई दिनों तक कोमा में रहने के बाद उसकी मौत हो गई.

अन्य ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

Dipak Pandey is freelancer journalist from Lucknow district of Uttar Pradesh state in India. He is native of Allahabad district. He has worked with many reputed news channels and digital media platform. Contact him with email : dp362031@gmail.com, or mobile : 9125516663.

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *