Home Rashtriya Samachar Kargil Victory Day: 21 साल पहले दुश्मन सेना को धूल चटाया, अब...

Kargil Victory Day: 21 साल पहले दुश्मन सेना को धूल चटाया, अब ज़मीन में गाढ़ देंगें

142
defense-minister-remembers-martyrs-on-kargil-victory-day-1999

thegandhigiri-news-app-may-2020

नई दिल्ली: कारगिल विजय दिवस (Kargil Victory Day) के 21 साल पूरे होने पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को भारतीय सेना के वीर जवानों और शहीदों को नमन किया।

राजनाथ सिंह ने कारगिल विजय की 21वीं वर्षगांठ पर सिलसिलेवार कई ट्वीट किए और भारतीय सशस्त्र बलों के उन बहादुर सैनिकों को सलाम किा जो अदम्य साहस से हमेशा देश की सेवा के लिए तत्पर रहते हैं।

राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया कि मैं भारतीय सशस्त्र बलों के उन बहादुर सैनिकों को सलाम करना चाहता हूं जिन्होंने हाल के इतिहास में दुनिया की सबसे चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में दुश्मन का मुकाबला किया।

रक्षा मंत्री राजनाथ ने ट्वीट किया कि मैं उन जवानों का भी आभारी हूं जो युद्ध में अक्षम होने के बावजूद अपने तरीके से देश की सेवा करते रहे और अनुकरण के योग्य उदाहरण स्थापित किए।

सिंह ने आगे लिखा कि कारगिल विजय दिवस (Kargil Victory Day) वास्तव में उत्कृष्ट सैन्य सेवा, अनुकरणीय वीरता और बलिदान की भारत की गौरवशाली परंपरा का उत्सव है. हमारे सशस्त्र बलों के अटूट साहस और देशभक्ति ने सुनिश्चित किया है कि भारत सकुशल और सुरक्षित है।

गृहमंत्री शाह ने ट्वीट किया कि करगिल विजय दिवस भारत के स्वाभिमान, अद्भुत पराक्रम और दृढ़ नेतृत्व का प्रतीक है। मैं उन शूरवीरों को नमन करता हूं, जिन्होंने अपने अदम्य साहस से करगिल की दुर्गम पहाड़ियों से दुश्मन को खदेड़ कर वहां पुनः तिरंगा लहराया। मातृभूमि की रक्षा के लिए समर्पित भारत के वीरों पर देश को गर्व है।

बता दें, 21 साल पहले 26 जुलाई, 1999 को आज ही के दिन भारतीय जवानों ने पाकिस्तान को भारत की ताकत का एहसास दिलाया था कि देश पर आंक उठाकर देखने वालों का हर्ष क्या होता है।

भारतीय जवानों ने शौर्य और पराक्रम से उन चोटियों को दुशमनों के कब्जे से मुक्त कराया था जिन पर उन्होंने कब्जा कर लिया था। 60 दिन चले कारगिल युद्ध में भारत ने अपने कई वीर सपूत गवाएं लेकिन भारत माता की शीश झुकने नहीं दिया।

यह भी पढ़ें

भारत ने उत्तर कोरिया को 10लाख डॉलर कीमत की मेडिकल सहायता भेजी