Home Big News | बड़ी खबर “कोरोना जिहाद” प्रोपेगेंडा पर मुस्लिमों को बदनाम करने वाले गोदी मीडिया एंकर...

“कोरोना जिहाद” प्रोपेगेंडा पर मुस्लिमों को बदनाम करने वाले गोदी मीडिया एंकर रोहित सरदाना की COVID -19 से दर्दनाक मौत

आजतक (गोदी मीडिया) (Aaj Tak) के मशहूर टीवी एंकर रोहित सरदाना (Rohit Sardana) का शुक्रवार को घातक COVID -19 संक्रमण से निधन (Death) हो गया। रोहित सरदाना के असामयिक निधन से भाजपा सहित अन्य गोदी मीडिया जगत पूरी तरह से सदमे की स्थिति में है। सरदाना की मौत की खबर फैलते ही सोशल मीडिया पर शोक संवेदनाएं होने लगीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, “रोहित सरदाना ने हमें बहुत जल्द छोड़ दिया। ऊर्जा से भरपूर, भारत की प्रगति और एक दयालु आत्मा के बारे में भावुक, रोहित कई लोगों द्वारा याद किया जाएगा। उनके असामयिक निधन ने मीडिया जगत में एक बहुत बड़ा शून्य छोड़ दिया है। उनके परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। शांति।”

यह भी पढ़ें: म्यांमार: रोहिंग्या नरसंहार पर जो सेना की तारीफ करते थे, आज वही सेना को “आतंकवादी” कह रहे हैं

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट करते हुए लिखा, “प्रसिद्ध मीडिया पत्रकार रोहित सरदाना जी (Rohit Sardana) के असामयिक निधन (Death) के समाचार से स्तब्ध हूँ। उनका जाना पत्रकारिता समाज के लिए अपूरणीय क्षति है। ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति व शोक संतप्त परिजनों को संबल प्रदान करने की प्रार्थना करता हूँ।
ॐ शांति”

भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह ने लिखा, “श्री रोहित सरदाना जी के असामयिक निधन के बारे में जानने के लिए दर्द हुआ। उनमें से, राष्ट्र ने एक बहादुर पत्रकार खो दिया है जो हमेशा निष्पक्ष और निष्पक्ष रिपोर्टिंग के लिए खड़ा था। भगवान उनके परिवार को इस दुखद नुकसान को सहन करने की शक्ति दे। उनके परिवार और अनुयायियों के प्रति मेरी गहरी संवेदना।”

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद लिखते हैं, “लोकप्रिय न्यूज़ ऐंकर तथा वरिष्ठ पत्रकार रोहित सरदाना के निधन का समाचार अत्यंत दुखद है। उनका असामयिक निधन पत्रकारिता जगत के लिए बहुत बड़ी क्षति है। श्री सरदाना के परिवारजनों व प्रशंसकों को मेरी शोक संवेदनाएं।”

वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक ट्वीट में कहा, “आजतक के पत्रकार रोहित सरदाना के निधन के बारे में सुनकर गहरा दुख हुआ और स्तब्ध। यह बस अविश्वसनीय है। रोहित कोविद -19 से उबर गए थे और काम पर वापस आ गए थे। मेरी हार्दिक संवेदनाएं।” परिवार के सदस्य और आजतक समूह।”

बता दें की रोहित सरदाना (Rohit Sardana) गोदी मीडिया “आजतक” चैनल के मशहूर एंकर में से एक थे। ज़ी न्यूज़ में वो “ताल-थोक” के शो होस्ट किया करते थे। इसके बाद साल 2017 में “ज़ी न्यूज़” (गोदी मीडिया) छोड़ उन्होंने आजतक ज्वाइन कर लिया। आजतक में वो “दंगल” शो होस्ट किया करते थे।

रोहित सरदाना का विवाद (Rohit Sardana Controversial)

रोहित सरदाना पर “ज़ी न्यूज़” से लेकर “आजतक” के शो होस्ट में पक्षपात एंकरिंग का आरोप लगता रहा है। उन पर एक खास पार्टी को फायदा पहुंचने के उद्देश्य से अन्य राजनैतिक पार्टियों को टारगेट करने का भी आरोप लगा है।

रोहित सरदाना (Rohit Sardana) पर न सिर्फ राजनीतिक पक्षपात बल्कि देश के असल मुद्दों के बजाये सांप्रदायिक मुद्दों को पैदा कर जनता को गुमराह करने का भी आरोप लगा है। उनकी सांप्रदायिक मानसिकता उनके पोस्ट में साफ झलकती थी।

पिछले साल भारत में कोरोना वायरस फैलने को लेकर गोदी मीडिया चैनलों ने सरकार की नाकामियों को दिखाने के बजाये निजामुद्दीन दरगाह (Nizamuddin Dargah) मामले पर एक खास समुदाय को जमकर टारगेट किया था। “कोरोना जिहाद” (Corona Jihad) जैसे प्रोपोगेंडा चलाये गए। तरह तरह के सांप्रदायिक पोस्ट किये गए। इन सब में गोदी मीडिया के एंकरों की भूमिका काफी अहम रही थी।

पढ़ें अन्य बड़ी खबरें

Exit mobile version