होम Big News | बड़ी खबर Ladakh में LAC पर दोनों सेनाओं के बीच कल होगी 10वीं दौर...

Ladakh में LAC पर दोनों सेनाओं के बीच कल होगी 10वीं दौर की बात

192
ladakh-lac-talk-between-india-china
The-Gandhigiri-tg-website-designer-Developer-lucknow

लद्दाख/नई दिल्ली: लद्दाख (Ladakh) में पैंगोंग झील के पास से भारत और चीन के सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया के बीच कल फिर दोनों देशों के कोर कमांडर स्तर की बात होनी है।

सेना के सूत्रों के मुताबिक यह बातचीत वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन की तरफ मोलडो में होगी, जहां 9वीं दौर की भी बात हुई थी और सेनाओं की वापसी पर ठोस सहमति बन पाई थी।

यह बातचीत कल सुबह 10 बजे से होगी। सेना सूत्रों के मुताबिक इस दौर की बातचीच में दोनों देश की सेना पैंगोंग झील के दक्षिणी और उत्तरी किनारे से सेनाओं की वापसी के बाद बाकी तनाव वाली जगहों से सेना की वापसी को लेकर चर्चा करेंगे।

भाजपा ज्वाइन करने के एक साल बाद पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई के खिलाफ यौन शोषण का मामला हुआ बंद

भारतीय सेना ने वीडियो और फोटो जारी कर दिखाया था कि पैंगोंग झील इलाके से कैसे चीन की सेना वापस लौट रही है। उसने वहां पर बना गए अपने इंफ्रास्ट्रक्चर को भी हटा लिया है, ऐसी तस्वीरें सामने आ चुकी हैं।

जानकारी के मुताबिक वो तस्वीरें पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे और दक्षिणी किनारे के कैलाश रेंज की हैं। तस्वीरों में उनके टूटे हुए बंकर और अस्थायी ढांचे जेसीबी और हाथों से भी हटाए जा रहे थे।

दोनों देशों की सेनाओं के बीच जो सहमति बनी है, उसके मुताबिक दोनों को मई,2020 वाली स्थिति में वापस लौट जाना है।

Shabnam case: आजाद भारत में पहली बार होगी किसी महिला को फांसी, जानिए क्या है जुर्म?

सेनाओं की वापसी की यह प्रक्रिया दोनों सेनाओं की निगरानी के बीच हो रही है; और अगर 10वीं दौर की बातचीत की सहमति बनी है तो माना जा सकता है कि पहले दौर में सेनाओं की वापसी का काम लगभग पूरा किया जा चुका है।

क्योंकि, सेना के एक अधिकारी ने बताया था कि पैंगोंग के पास से सेनाओं वापसी की तसल्ली हो जाने के 48 घंटे बाद ही कोर-कमांडर स्तर की अगली दौर की बात होगी।

पैंगोंग झील से सेनाओं की वापसी की प्रक्रिया पूरी होने के बाद देसपांग और गोगरा-हॉट स्प्रिंग इलाके से सेनाओं के पीछे हटने को लेकर बातचीत होने की संभावना है।

इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी साफ किया था कि वास्तविक नियंत्रण रेखा के दूसरे सेक्टर से भी वापसी की प्रक्रिया पर बातचीत होगी। इसलिए माना जा रहा है कि इस दौर में इन्हीं दोनों सेक्टर पर फोकस रहने की संभावना है।

अन्य बड़ी खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें

the-gandhigiri-Whatsapp-news-Broadcast the-gandhigiri-telegram-channel