होम Big News | बड़ी खबर बिना डरे-थके यह मुस्लिम समूह Covid-19 से मरने वाले हिंदुओं का करता...

बिना डरे-थके यह मुस्लिम समूह Covid-19 से मरने वाले हिंदुओं का करता है मुफ्त में अंतिम संस्कार

1310
muslim-group-performs-free-cremate-of-hindus-who-died-by-coronavirus
The-Gandhigiri-tg-website-designer-Developer-lucknow

वडोदरा: कोरोना (Covid-19) की गंदी राजनीति और देश के मुसलमानों को प्रायोजित साजिश के तहत बदनाम करने पर बॉम्बे हाईकोर्ट का 22 अगस्त को दिया एक फैसला समाज की आबोहवा में धार्मिक नफरत घोल रही गोदी मीडिया और उन लोगों के मुंह पर करारा तमाचा था।

यह खबर भी उन लोगों के मुंह पर तमाचे जैसी है जिन्होंने कोरोना काल की शुरुआत से मुसलमानों के प्रति धार्मिक नफरत रखने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

मृतक का अच्छे से अंतिम संस्कार करना समाज में सभी का एक कर्तव्य है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए गुजरात के वडोदरा में मुसलमानों का एक समूह कोरोनावायरस से मरने वाले हिंदुओं का अंतिम संस्कार करता है। इसमें वह धर्म की दीवार को आड़े नहीं आने देते हैं

उन्हें मालूम है कि ऐसा करते हुए वह अपनी जिंदगी को भी खतरे में डाल रहे होते हैं, फिर भी यह समूह 24 घंटे अपनी सेवा प्रदान करता है।


मौलाना मोहम्मद मोहसिन कहते हैं, ‘हमें नगरपालिका से एक मैसेज मिला, उन्होंने हमें एक शव के बारे में बताया। इसी तरह हमें किसी के घर या अस्पताल में शव लेने जाना होता है। सबको पैक करने के बाद हम शमशान या कब्रिस्तान की अपडेट लेते हैं। उसी हिसाब से हम वहां पहुंचते हैं और अंतिम क्रिया को अंजाम देते हैं।’

मुसलमानों के इस समूह में डॉक्टर भी शामिल हैं जो यह सुनिश्चित करते हैं कि हर एक मृतक को अंतिम सम्मान जरूर मिले जिसका वह हकदार है। यह समूह कोरोनावायरस की शुरुआत से ही मृतकों का अंतिम संस्कार कर रहा है।

हुसैन बदामी कहते हैं, ‘हमें रोजाना 25 से 30 शवों के बारे में कॉल आती है। सभी एंबुलेंस बिल्कुल मुफ्त में चलाई जाती है। उन्हें लॉकडाउन के दौरान एसोसिएशन की तरफ से चलाया गया था। हमें नगरपालिका की अपडेट पियूष पटेल सर, नितिन भाई और अशोक काका के जरिए मिलती है। अशोक काका हमें शमशान या कब्रिस्तान में खाली स्लॉट की जानकारी देते हैं। उनकी जानकारी के अनुसार ही हम शव को लेकर जाते हैं।’

मुसलमानों का यह समूह कोरोना महामारी (Covid-19 Pandemic) के दौर में आपसी एकता और भाईचारे का एक मिसाल बन गया है।

अन्य खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें

the-gandhigiri-Whatsapp-news-Broadcast the-gandhigiri-telegram-channel