योगी सरकार के खिलाफ प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का जोरदार प्रदर्शन

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी, प्रसपा, शिवपाल यादव, शिवपाल सिंह यादव, प्रदर्शन, योगी आदित्यनाथ, लखनऊ, pragatisheel samajwadi party, shivpal singh yadav, shivpal yadav, protest, lucknow, yogi adityanath

लखनऊ। गुरूवार को प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (Pragatisheel Samajwadi Party) की ओर से उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया गया। कानून व्यवस्था, महिला अपराध, माॅब लिंचिंग, महंगाई और उन्नाव रेप जैसे कई मामले उठाये गये। प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) के साथ सैकड़ों की संख्या में लोगों ने विधानसभा घेरने की कोशिश की। पुलिस ने बैरीकेट लगाकर प्रदर्शनकारियों को किसी तरह रोका। बाद में प्रदर्शन कर रहे कुछ लोगों को पुलिस गिरफ्तार कर गाड़ियों में भर कर ले गई।

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (Pragatisheel Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) ने प्रदेश की योगी सरकार को दलित विरोधी सरकार कहा है। उन्होंने माॅब लिंचिंग, महंगाई, कानून व्यवस्था और रूके हुए सरकारी कामों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा। प्रदर्शन में प्रसपा ने किसानों की समस्याओं को भी उठाया। हाथों में अलग अलग तख्ती लिये लोगों ने अपनी नाराजगी जाहिर की। प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव ने प्रदेश सरकार से कई तरह की मांग की गई।

प्रसपा की मुख्य रूप से मांगे हैं,

  1. उत्तर प्रदेश की बिगड़ी कानून व्यवस्था को तत्काल ठीक किया जाये।
  2. पशु पालकों के ऊपर नगर निगम लखनऊ का अत्याचार तत्काल रोका जाये। बढ़़ाई गई जुर्माने की राशि कम की जाये।
  3. माॅब लिंचिंग की घटनाओं को रोका जाये। साथ ही इसके विरूद्ध सख्त कानून बनाया जाये।
  4. एक देश एक कानून के तहत महंगे पेट्रोल और डीजल की कीमतों को जीएसटी के अतंर्गत लाया जाये।
  5. बढ़ी हुई बिजली की दरों को कम किया जाये। साथ ही किसानों को खेती के लिए निशुल्क बिजली दी जाये। इसके अलावा नये मीटर लगाने के नाम पर चल रही अवैध वसूली को रोका जाये।
  6. उन्नाव रेप पीड़िता को न्याय मिले और मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाये।
  7. प्रदेश की गड्ढायुक्त सड़कों को ठीक कराया जाये।
  8. अधिवक्ताओं की हत्या और जानलेवा हमलों को रोका जाये। साथ ही मृतक के परिवार को मुआवजा दिया जाये और बुजुर्ग अधिवक्ताओं को परिवार चलाने के लिए सरकार पेंशन व भत्ते की व्यवस्था करे।
  9. बीजेपी सरकार के आने के बाद से प्रदेश भर में रोकी गई विधवा पेंशन, विकलांग पेंशन, शादी अनुदान, बेरोजगारी भत्ता और रोजगार बहाल किया जाये।
  10. विपक्षी पार्टियों के नेताओं और कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न रोका जाये।
  11. सरकारी अस्पतालों में पर्चा, सभी प्रकार की दावाएं और जांच निशुल्क किया जाये।
  12. महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों में छात्रसंघ को बहाल किया जाये।

अन्य ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

Dipak Pandey is freelancer journalist from Lucknow district of Uttar Pradesh state in India. He is native of Allahabad district. He has worked with many reputed news channels and digital media platform. Contact him with email : dp362031@gmail.com, or mobile : 9125516663.

1 Comment

  1. Pingback: Sacked Uttar Pradesh Home Guard begging on road

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *