छात्रा ने कहा, सेंगर की शक्ल देख कर लगता है वह एक नंबर का रेपिस्ट और मर्डरर है

lucknow protest, unnao gang rape case, kuldeep sengar, bjp

उन्नाव गैंग रेप केस (Unnao Gang Rape Case) में रविवार (28 जुलाई) को एक संदिग्ध सड़क हादसे में पीड़िता के परिजनों की मौत के बाद मामला फिर से गरमा गया है। पीड़ित युवती की हालत नाजुक है जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा है। एक बार फिर से कई समाज सेवी संगठन, आम जनता और छात्र-छात्राओं ने साथ मिल कर शासन-प्रशासन के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर की। इस मामले में अभी तक जो कुछ गैंग रेप की पीड़िता के साथ हुआ उससे छात्रांए काफी नाखुश हैं। छात्राओं का कहना है कि पीड़ित युवती के साथ इंसाफ नहीं हुआ है। आरोपी बेजीपी विधायक कुलदीप सेंगर (Kuldeep Sengar) कहीं से भी निर्दोष नहीं है, वह तो शक्ल से ही एक नंबर का रेपिस्ट और मर्डरर लगता है।

Watch Video

मंगलवार को राजधानी लखनऊ में उन्नाव गैंग रेप की पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए प्रोटेस्ट किया गया। सभी ने सवाल किया कि आखिर हत्या और बलात्कार के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) को राजनैतिक संरक्षण क्यों मिल रहा है? साथ ही योगी सरकार से आरोपी विधायक के खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग की। लेकिन योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की सरकार में यदि साल भर पहले ही बाहुबली विधायक पर लगाम कस दिया जाता तो आज पीड़िता का परिवार भी जिंदा होता और महिलाएं बीजेपी शासन में खुदको सुरक्षित भी महसूस करती।

अब तो पुलिस के पास भी जाने से डर लगता है

जब पुलिस हिरासत में नाबालिग गैंग रेप पीड़िता के पिता की संदिग्ध मौत हो गई। यूपी पुलिस ने आरोपी बाहुबली बीजेपी विधायक को गिरफ्तार करने के बजाये पीड़िता के घरवालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया। एक साल बाद पीड़िता के परिजनों की संदिग्ध हादसे में मौत हो गई। पुलिस के मुखिया ने बिना जाँच के इसे दुर्घटना करार दे दिया और सूबे की योगी सरकार सब कुछ तमाशा देखती रही। ऐसे में महिलाओं और छात्राओं का यह कहना कि, ‘अब तो पुलिस के पास भी जाने से डर लगता है’, ऐसे सूरते हाल में गलत नहीं है।

the gandhigiri app download, thegandhigiri  

यह भी पढ़ें: उधर हिन्दू महिला का गैंग रेप कर पूरा परिवार जान से मार दिया गया और मोदी जी ‘एक था टाइगर’ की कहानी सुना रहे हैं

उन्नाव गैंग रेप केस के बाद महिलाओं का न सिर्फ बीजेपी सरकार बल्कि पुलिस प्रशासन पर से भी विश्वास उठ चुका है। छात्राएं योगी सरकार से अपनी सुरक्षा की मांग कर रही हैं। साथ ही बलात्कार और हत्या के आरोपियों को राजनैतिक संरक्षण देने पर सवाल भी पूछ रही हैं।

क्या है पूरा मामला

बीते साल 2017 के उन्नाव गैंग रेप केस में बीजेपी के बाहुबली विधायक कुलदीप सेंगर (Kuldeep Sengar) आरोपी है। पीड़िता के पिता की पुलिस हिरासत में पिछले साल संदिग्ध मौत हो चुकी है। सीबीआई जांच में सेंगर को दोषी पाया गया दो बार चार्जशीट भी दाखिल हो चुकी है। काफी दबाव के बाद सूबे की योगी सरकार ने अपने विधायक को पार्टी से बाहर निकाल दिया। घटना को एक साल बीत चुका है।

यह भी पढ़ें: नेशनल बाॅडी बिल्डर ने कहा, ‘योगी जी, बीजेपी नेता के गुंडों को रोकिये नहीं तो पकड़ कर चीर दूंगा’

न्यायालय में केस चल ही रहा था कि, अचानक संदिग्ध कार हादसे में पीड़ित युवती के परिवार के दो सदस्यों की मौत हो जाती है। युवती और उसकी ओर से केस लड़ रहे अधिवक्ता की भी हालत नाजुक है। पीड़ित युवती अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रही है।

यूपी पूलिस के मुखिया डीजीपी ओम प्रकाश सिंह (ओ.पी. सिंह) ने इस संदिग्ध हादसे को पहले दुर्घटना बताया। जब हादसे से जुड़े कई संगीन सवाल उठने लगे तो पुलिस एक भी सवाल का जवाब नहीं दे पाई।

अन्य ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

https://www.thegandhigiri.com/unnao-accident-news-in-hindi/

Asif Khan works as freelancer journalist from Lucknow district of Uttar Pradesh state in India.. He is native of Gorakhpur district. Asif Khan has worked with former Nav Bharat Times special correspondent Mr. Vijay Dixit, worked as video journalist in IBC24 news from Lucknow, worked with 4tv bureau chief Mr. Ghanshyam Chaurasiya, worked with special correspondent of Jan Sandesh Times Capt. Tapan Dixit. He has worked as special correspondent in The Dailygraph news. Contact with him via mail asifkhan2.127@gmail.com or call at +91-9389067047

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *