योगी राज में बॉर्डर पर बच्चों से कराई जा रही शराब की तस्करी

योगी राज, शराब की तस्करी, नेपाल बॉर्डर, भारत नेपाल सीमा, रुपईडीहा बॉर्डर, बच्चों से शराब की तस्करी, बहराइच, liquor smuggling on india nepal border by children

आपने शाहरुख खान की फिल्म ‘रईस’ तो देखी होगी. कैसे वो बचपन में शराब के व्यापारियों के लिए पुलिस की आँखों में धूल झोंकता हुआ अपने स्कूली बस्ते में भर कर शराब की तस्करी करता है. कुछ ऐसा ही नज़ारा योगी आदित्यनाथ की सरकार में उत्तर प्रदेश के नेपाल बॉर्डर से सटे बहराइच जिले के सीमा क्षेत्र रुपईडीहा बॉर्डर का है. जहां नाबालिग बच्चों से शराब व्यापारी भारत नेपाल सीमा पर खुलेआम तस्करी करा रहे हैं.

देखें वीडियो

भारत नेपाल सीमा पर स्थित सुरक्षा एजेंसियों की मुस्तैदी के बावजूद जनपद बहराइच के रुपईडीहा बॉर्डर पर अवैध नशे के कारोबार का अड्डा बनता जा रहा है. यही नहीं, यहां छोटे छोटे मासूम बच्चों को पैसों का लालच देकर उनसे शराब की तस्करी कराई जा रही है. सुरक्षा एजेंसियों द्वारा यहां आने जाने वालों की सघन जांच की जाती है. बावजूद इसके इस धंधे में लिप्त शातिर लोग अपने मंसूबे में कामयाब हो जाते है.

भारत नेपाल सीमा पर कैसे होती है शराब की तस्करी?

जैसा की वीडियो में दिख रहा है, बच्चें अपने कपड़ों के अंदर अवैध शराब की बोतलें भर कर भारत नेपाल सीमा पर उधर से इधर ला रहे हैं. इन बच्चों की उम्र लगभग 8 से 12 साल है. जिस जगह यह तस्करी हो रही है वहां पर कोई भी सुरक्षा बल या पुलिस नहीं दिख रही है. एक संदीप नाम का बच्चा बताता है कि उसे प्रत्येक बोतल 30 रुपया मिलता है. यह काम वो करीब एक महीने से कर रहा है.

जिनके हाथों में स्कूली बस्ता, कलम और किताबें होनी चाहिए, वहां शराब की बोतलें दिख रही हैं. इस प्रकार इन गरीब बच्चों और देश का भविष्य अन्धकार में धकेला जा रहा है.

यह भी पढ़ें: प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी पर योगी आदित्यनाथ को अपना वो दिन भी याद करना चाहिए जब सदन में मुंह छुपा कर रोये थें

जनपद बहराइच की काफी लंबी सीमा नेपाल से जुड़ी है जिसमें ज्यादा हिस्सा जंगल क्षेत्र है. जहां से आये दिन भारत के सुरक्षा में मुस्तैद सुरक्षा एजेंसियों द्वारा देश को अवैध नशे के जरिए कमजोर करने वाले लोगों की धड़ पकड़ चला करती है.

शराब व्यवसायी इन बच्चों को अपना निशाना बना कर अवैध शराब को एक जगह से दूसरी जगज भेजने का काम करवाते है और इन सब में कहीं न कहीं पुलिस संरक्षण भी इन्हें मिलता है.

रिपोर्ट -मोहम्मद आमिर

बहराइच

अन्य ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

किसानों ने कहा, ‘योगी जी ! बिजली के बढ़े दाम वापस लो, नहीं तो मूत कर बहा देंगे’

https://www.thegandhigiri.com/bhartiya-kisan-union-farmer-protesting-against-hike-of-electricity-rate-in-up/

Dipak Pandey is freelancer journalist from Lucknow district of Uttar Pradesh state in India. He is native of Allahabad district. He has worked with many reputed news channels and digital media platform. Contact him with email : dp362031@gmail.com, or mobile : 9125516663.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *