होम Politics | राजनीति भाजपा समर्थक बलात्कारी-हत्यारे और गोदी मीडिया योगी-मोदी को छोड़ प्रियंका से “बेटी...

भाजपा समर्थक बलात्कारी-हत्यारे और गोदी मीडिया योगी-मोदी को छोड़ प्रियंका से “बेटी बचाओ” बोल रहे हैं

176
bjp-cherished-rapist-and-killer-arrived-to-disrupt-priyanka-gandhi-rally-mathura
The-Gandhigiri-tg-website-designer-Developer-lucknow

मथुरा: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) की मथुरा किसान पंचायत रैली (Rally) के दौरान हाथरस कांड का आरोपी भाजपा समर्थक बीच में कूद पड़ा. वो राजस्थान में एक कथित बलात्कार मामले को लेकर प्रियंका की रैली को बाधित करने के इरादे से आया था. जिसमें गोदी मीडिया (Godi Media) की मिलीभगत से राजस्थान कांग्रेस सरकार और प्रियंका को निशाना बनाना चाहता था, लेकिन मामला उल्टा पड़ गया।

प्रियंका गांधी की रैली (Priyanka Gandhi Rally) में एक बलात्कार के मामले को लेकर पीड़िता का परिवार और कुछ तथाकथित लोग घुस आये और नारेबाजी की. नाबालिग लड़की के माता-पिता ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी का यूपी से सटे राजस्थान के भरतपुर में बलात्कार हुआ था।

Mamata Banerjee ने मोदी को कहा, यह ‘सबसे बड़ा दंगाबाज’ है, ट्रंप से भी ज्यादा झंड होगी इसकी किस्मत

प्रदर्शनकारियों के समूह ने ‘बेटी को न्याय दो’ के नारे लगाए। कथित बलात्कार पीड़िता और उसके परिवार ने दावा किया कि पिछले डेढ़ साल से न्याय मांगने के उनके प्रयास निरर्थक हैं और उन्हें अपराधियों के परिवार से धमकी भी दी जा रही है।

बता दें कि वीडियो में विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों में एक शख्स वह है जिसने हाथरस में दलित महिला से कथित सामूहिक बलात्कार और हत्या के बाद भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को धमकी दी थी। उच्च जाति का व्यक्ति, अन्य लोगों के साथ, आरोपी का बचाव कर रहा था।


पूरा देश जनता है कि भाजपा समर्थक गोदी मीडिया (Godi Media) हर वक्त ऐसे ही मौकों की तलाश में रहते हैं. ऐसा ही एक जाना-माना गोदी मीडिया ‘रिपब्लिक भरत’ (Republic Bharat) ने बताया कि उसके ’सूत्रों’ के अनुसार, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार की फरियाद सुने बिना ही कार्यक्रम स्थल से चली गईं। जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं था.

priyanka-gandhi-rally-video-mathura-republic-bharat-tweet

फर्जी टीआरपी का मामला हो या झूठी खबरें, ‘रिपब्लिक भरत’ (Republic Bharat) जैसे गोदी मीडिया (Godi Media) इस काम को बखूबी अंजाम देते हैं. इस बार भी यही हुआ, लेकिन जब गोदी मीडिया को पता चला कि प्रदर्शनकारियों में से एक सामूहिक बलात्कार और हत्या का आरोपी है तो उसने अपना ट्वीट तुरंत डिलीट कर दिया.

इसके साथ कई टीवी न्यूज़ चैनल और प्रिंट मीडिया के पत्रकारों ने ट्विटर पर ही गोदी मीडिया ‘रिपब्लिक भारत’ के झूठ का पर्दाफाश कर दिया तो उसे एक बार फिर मुंह छुपाने की जगह नहीं मिली।

 

 

 

गोदी मीडिया के उलट कई मीडिया आउटलेट्स ने बताया कि प्रियंका गांधी ने अपना भाषण बीच में ही रोक दिया और प्रदर्शनकारियों की शिकायत सुनने के लिए मंच से नीचे उतर गईं।

NDTV के पत्रकार सौरभ शुक्ला (Saurabh Shukla) ने रिपब्लिक के ट्वीट पर जवाब दिया और लिखा, “यह रिपोर्ट गलत है। प्रियंका गांधी मंच से नीचे उतरीं, पीड़ित परिजन को अपने साथ ले गई, उनकी बात सुनी और राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत को फोन किया।”

MP Shahdol: भाजपा मंडल अध्यक्ष ने 20 साल की युवती को अगवाह कर किया गैंगरेप, एफआईआर दर्ज

यूपी कांग्रेस ने भी गोदी मीडिया के जवाब में ट्वीट करते हुए लिखा, @Republic_Bharat ये आप एकदम झूठी खबर फैला रहे हैं। प्रियंका गांधी जी ने भाषण रोककर पीड़िता की बात सुनी। उसको साथ लेकर अलग से बात की एवं राजस्थान में सीएम से बात कर एक्शन लेने को कहा। @mathurapolice
ने लड़की को अरेस्ट नहीं किया। ये ट्वीट डिलीट करिए वरना लीगल कार्यवाही की जायगी।”

 

चारों ओर से घिरने के बाद गोदी मीडिया “रिपब्लिक भारत” ने दूसरा ट्वीट किया। जिसमें उसने कुछ सुधार किये, लेकिन गलत सूचना देने वाला पहला ट्वीट अभी भी उसके ट्विटर अकाउंट पर लाइव है।

republic-bharat-tweet-on-priyanka-gandhi-mathura-rally

सौजन्य से, ऑल्ट न्यूज़

अन्य बड़ी खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें

the-gandhigiri-telegram-channel