होम Politics | राजनीति शिवपाल ने किसान नेता को दल में शामिल कर जारी किया कृषि...

शिवपाल ने किसान नेता को दल में शामिल कर जारी किया कृषि सुधार योजना के सात सूत्र

420
farmer-leader-manveer-singh-tewatia-and-supreme-court-advocate-naveen-dubey-join-pragatishil-samajwadi-party
The-Gandhigiri-tg-website-designer-Developer-lucknow

लखनऊ। किसान नेता मनवीर सिंह तेवतिया के साथ ब्राह्मण नेता और सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता नवीन दूबे ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया (Pragatishil Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) के विचारों में आस्था जताते हुए प्रसपा का दामन थाम लिया है।

2010 की मायावती सरकार में अलीगढ के टप्पल में हुए किसान आंदोलन के दौरान चर्चा में आए और ग्रेटर नोएडा के भट्टा ग्राम में भूमि अधिग्रहण के ख़िलाफ़ किसानों के पक्ष में संघर्ष का बिगुल फूंकने वाले मनवीर सिंह तेवतिया को प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया (Pragatishil Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने प्रसपा का ध्वज देकर प्रसपा की सदस्यता दिलाई।

इसी क्रम में फ़िल्म निर्माता निर्देशक अजय सिंह सैंथवार, सुरेश यादव सहित सैंकड़ो की संख्या में लोगों ने प्रसपा की सदस्यता ली। इस अवसर पर अन्नदाताओं के लिए शिवपाल यादव (Shivpal Singh Yadav) ने कृषि सुधार (रिफार्म) योजना से संबंधित सात सूत्र जारी किए। जो निम्न है-

1- जिन मंडियों को केंद्र सरकार समाप्त करना चाहती है, उन मंडियों में माननीय शिवपाल सिंह यादव के उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री रहते हुए किसानों की फसलों को एम.एस.पी. से अधिक रेट पर खरीदा गया था, इसलिए मण्डियों का रहना किसान हित में है, बस मंडियों व किसानों के प्रति सकारत्मक सोच रखने की आवश्यकता है।

2- किसानों मजदूरों के लिए बिजली, पानी, डीजल, पेट्रोल, खाद, बीज, सड़कों व कृषि यंत्रों व कृषि भूमि खरीद फरोख्त को टैक्स फ्री किया जाए।

3- सरकार द्वारा जिन फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया जाता है, उन फसलों को सभी कार्य दिवसों में सरकारी खरीद सुनिश्चित करने का प्रावधान किया जाए ।

4- श्रम कानूनों में संशोधन कर किसानों के श्रम (मेहनत/मजदूरी) को संवैधानिक अधिकार दिया जाना सुनिश्चित किया जाए, अर्थात मनरेगा के बराबर पूरे साल यानि 365 दिन की मजदूरी जोड़कर न्यूनतम समर्थन मूल्य की गणना की जाए।

5- किसान, मजदूरों की संपत्ति का आकलन सर्किल रेट से करके उनकी आवश्यकतानुसार ऋण दिया जाए जिसका किस्तों में भी भुगतान करने का प्रावधान किया जाए।

6- खाद्य पदार्थों, पेय पदार्थों व दवाइयों में मिलावट करने वालों के विरुद्ध कठोर कानून का प्रावधान किया जाये।

7- किसान का बकाया भुगतान किसी भी संस्था पर हो, उसे उसकी बकाया धनराशि पर दण्ड ब्याज दिया जाये।

इस अवसर पर शिवपाल यादव ने कहा कि किसान संकट का हल सही मायनों में हल चलाने वाला ही निकाल सकता है।

शिवपाल यादव ने कहा कि प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) ने छोटूराम, चौधरी चरण सिंह व महेंद्र सिंह टिकैत के बताए रास्तों पर चलने का संकल्प लिया है।

मनवीर सिंह तेवतिया ने कहा कि सरकार स्वाभिमानी अन्नदाताओं के धैर्य की परीक्षा न ले ।

फ़िल्म निर्माता अजय सिंह सैंथवार ने कहा कि वह जल्द ही शिवपाल सिंह के व्यक्तित्व पर फ़िल्म बनाएंगे।

कार्यक्रम को पार्टी प्रदेश अध्यक्ष सुंदर लाल लोधी, राष्ट्रीय महासचिव शारदा शुक्ला, मुख्य प्रवक्ता दीपक मिश्रा, प्रदेश महासचिव देवेंद्र प्रताप सिंह और अधिवक्ता नवीन दूबे ने भी संबोधित किया।

the-gandhigiri-telegram-channel