Home Rajnitik Khabar महाराष्ट्र में सरकार: क्या शिवसेना, NCP और कांग्रेस के बीच गठबंधन की...

महाराष्ट्र में सरकार: क्या शिवसेना, NCP और कांग्रेस के बीच गठबंधन की संभावना है?

102
महाराष्ट्र में सरकार, शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, एनसीपी, कांग्रेस, शिवसेना एनसीपी कांग्रेस गठबंधन, Maharashtra Government, Shiv Sena, Nationalist Congress Party, NCP, Congress, Shiv Sena NCP Congress alliance

thegandhigiri-news-app-may-2020

मुंबई: महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस के बीच गठबंधन होने की संभावना है। गुरुवार को तीनों दलों ने कहा कि न्यूनतम साझा कार्यक्रम (सीएमपी) को अंतिम रूप दिया जा रहा है। इसी बीच एनसीपी का कहना है कि राज्य में अगला मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा।

एनसीपी के मुंबई अध्यक्ष नवाब मलिक ने कहा, अगला मुख्यमंत्री शिवसेना का होगा। यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम उसके आत्मसम्मान को बनाए रखे क्योंकि उसने अपने पुराने गठबंधन को छोड़ा है। कांग्रेस सरकार का हिस्सा होगी या वह बाहर से हमारा समर्थन करेगी इसका जल्द फैसला होगा।

महाराष्ट्र में सरकार बनाने की गतिविधियों ने रविवार से गति पकड़नी तब शुरू की जब शरद पवार ने दिल्ली में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने की उम्मीद जताई।

एनसीपी नेताओं के अनुसार पहले गांधी और पवार बैठक करेंगे और उसके बाद शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से मिलेंगे। इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है कि क्योंकि यह सरकार गठन पर आखिरी मुहर लगाने का काम करेगी।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भाजपा के नवनिर्वाचित विधायकों से कहा है कि है कि कोई भी पार्टी भाजपा के बिना राज्य में सरकार नहीं बना सकती है।

महाराष्ट्र में मंगलवार को राष्ट्रपति शासन लगाया गया। इसी बीच शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने ट्वीट कर कहा, बंदे हैं हम उसके हमपर किसका जोर, उम्मीदों के सूरज निकले चारों ओर।

शिवसेना-NCP-कांग्रेस गठबंधन: फर्जी घोषित कराने के लिए SC में जनहित याचिका

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद सरकार बनाने के लिए एक साथ आ रहे शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन को फर्जी घोषित कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है। याचिका को अगले कुछ दिन में सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया जा सकता है।

इसमें आरोप लगाया गया है कि विधानसभा चुनाव भाजपा के साथ लड़ने वाली शिवसेना के रुख में आया बदलाव कुछ नहीं बल्कि एनडीए के प्रति लोगों के विश्वास से धोखा है।

यह याचिका प्रमोद पंडित जोशी ने दाखिल की है। उन्होंने केंद्र और राज्य को यह निर्देश देने की मांग की है कि वे चुनाव बाद उभर रहे शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के मुख्यमंत्री को नियुक्त करने से दूर रहें।

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्रः भाजपा बना रही है यह मास्टरस्ट्रोक, शिव सेना-कांग्रेस हाथ मलते रह जायेंगे

the gandhigiri, whatsapp news broadcast