होम Politics | राजनीति तमिलनाडु सरकार द्वारा CAA के विरोध में दर्ज 10 लाख केस वापस...

तमिलनाडु सरकार द्वारा CAA के विरोध में दर्ज 10 लाख केस वापस लेने पर मायावती ने सीएम योगी से क्या कहा?

mayawati-tweet-on-tamilnadu-govt-caa-case-return-decision
The-Gandhigiri-tg-website-designer-Developer-lucknow

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के बाद अब तमिलनाडु सरकार ने भी कोरोना संक्रमण काल के दौरान सिटिजनशिप अमेंडमेंट एक्ट (CAA) के खिलाफ दर्ज केस को वापस लेने का फैसला किया है।

तमिलनाडु सरकार के इस फैसले पर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती (Mayawati) ने सराहने के साथ ही तंज भी कसा है। साथ ही मायावती ने उत्तर प्रदेश सरकार को भी सलाह दी है।

 


तमिलनाडु सरकार ने लॉकडाउन उल्लंघन के साथ नागरिकता कानून (CAA) के विरूद्ध आंदोलन में दर्ज दस लाख केस वापस लेने की घोषणा की है।

क्या मच्छरों ने शिवराज से लिया सीधी बस हादसे का बदला? क्या है मच्छर कांड की पूरी कहानी?

इस फैसले पर मायावती ने तंज कस्ते हुए कहा कि, ‘चुनावी लाभ के लिए ही सही किन्तु यह फैसला उचित। इससे निर्दोषों को राहत मिलने के साथ कोर्ट पर भी भार काफी कम होगा।’

 


इसके साथ ही मायावती ने कहा कि, ‘बीएसपी की यह मांग है कि उत्तर प्रदेश में भी इसी प्रकार के लाखों लंबित पड़े मामलों से लोग काफी दुखी व परेशान हैं। अत: उत्तर प्रदेश सरकार को भी इनके मुकदमों की वापसी के संबंध में सहानुभूतिपूर्वक विचार जरूर करना चाहिए ताकि लाखों परिवारों को राहत व कोर्ट-कचहरी से मुक्ति मिल सके।’

अन्य बड़ी खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें

the-gandhigiri-telegram-channel