रविवार, फ़रवरी 5, 2023
होमPOLITICS | राजनीतिकेजरीवाल का 'आम आदमी' का नकाब उतार फेंका: चन्नी

केजरीवाल का ‘आम आदमी’ का नकाब उतार फेंका: चन्नी

जालंधर: पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) ने कहा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल का आम आदमी का नकाब उन्होंने उतार फेंका है क्योंकि केजरीवाल नाटक करके काफी समय से लोगों को गुमराह कर रहे थे।

डाउनलोड करें "द गांधीगिरी" ऐप और रहें सभी बड़ी खबरों से बखबर

चन्नी ने कहा कि कांग्रेस हाईकमान ने जब एक गरीब परिवार के साथ संबंधित व्यक्ति के हाथों में राज सत्ता सौंपी तो उसके साथ केजरीवाल का नकाब उतरना शुरू हो गया था।

उन्होंने कहा कि केजरीवाल पंजाब के लोगों को भी यह कह कर गुमराह करने में लगे हुए थे कि वह आम व्यक्ति हैं जबकि यह सब ढकोसला था। वास्तविकता यह थी कि अरविन्द केजरीवाल हाई-प्रोफाइल राजनीतिज्ञ हैं और दिल्ली जाकर वास्तविकता का पता लगाया जा सकता है।



चन्नी ने कुछ चैनलों के साथ बातचीत के दौरान इस बात का खुलासा करते हुए कहा कि उनके हाथों में पंजाब की सत्ता की बागडोर आने के बाद उन्होंने आम जनता के साथ जुड़े हुए सभी फैसले सरकारी स्तर पर लिए।

उन्होंने कहा कि वह सबसे पहले गरीबों, दरम्यिाने वर्ग के लोगों और किसानों के हितों को देखते हुए सरकारी स्तर पर फैसले लिए। इन फैसलों के बाद केजरीवाल के मुंह पर आम आदमी का चढ़ा नकाब उतरना शुरू हो गया था। चन्नी ने कहा कि अब भविष्य में केजरीवाल का झूठा नकाब दोबारा चलने के आसार नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि अरविन्द केजरीवाल की आदत है कि पहले तो वह जोर-शोर के साथ अपने विरोधियों पर दोष लगाते हैं और कुछ समय बाद वह उनसे माफी मांग लेते हैं।

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) ने कहा कि केजरीवाल ने बीते दिनों में नितिन गडकरी, अरुण जेतली, अकाली नेता विक्रम मजीठिया से माफियां मांगीं हैं। आज केजरीवाल ने उनके खिलाफ अपमानजनक टिप्पणियां की हैं, क्या पता कल को चुनाव सम्पन्न होने के बाद वह मुझ से भी माफी मांग लें।



चन्नी ने कहा कि उनकी सरकार ने सबसे पहले गरीबों और दरम्यिाने वर्ग के लोगों के हितों में फैसले लिए। उन्होंने कहा कि सबसे पहले उन्होंने बिजली सस्ती की, बिजली के बकाया बिल माफ किए, पेट्रोल और डीजल के रेट घटाए, पानी की दरों को घटाया, व्यापारियों के पैंडिंग पड़े सी-फार्म के साथ संबंधित मामलों का निपटारा किया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी तरह उन्होंने अपने कर्मचारियों के हितों का ध्यान रखा और उनके मसलों को खुद सुन कर उनका हल किया। उन्होंने कहा कि गौशालाओं पर बिजली बिलों का 18 करोड़ रुपए का बकाया पड़ा हुआ था, जो उनकी सरकार ने माफ किया। अब भविष्य में गौशालाओं को बिजली के बिल नहीं आया करेंगे। उन्होंने कहा कि उन लोगों का पैसा लोगों तक पहुंचाने की कोशिशों की।

ईडी की तरफ से उनके रिश्तेदार पर मारे गए छापे का जिक्र करते हुए चन्नी ने कहा कि मोदी सरकार ने बदले की भावना से कार्यवाही की है। उन्होंने सवाल किया कि क्या नकदी उनके घर से पकड़ी गई थी जो केजरीवाल जैसे लोग नकदी के साथ उनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर डालते रहे।

जब उनसे पूछा गया कि नवजोत सिंह सिद्धू तो खुलकर उनके साथ छापे के बाद नहीं आए थे, चन्नी ने कहा कि हर व्यक्ति का अपना विचार होता है। वह इस पर कुछ नहीं कहेंगे।

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) ने कहा कि राज्य विधानसभा मतदान में कांग्रेस के जीतने की संभावनाएं और ज्यादा हैं इसलिए पार्टी टिकटों को लेकर कांग्रेस के अंदर ज्यादा मारामारी दिखाई दे रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस टिकटों के लिए दावेदार भी ज्यादा थे। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि जो नाराज नेता हैं, उनको मना लिया जाएगा और वह भी पार्टी के लिए ही काम करेंगे।

Desk Publisher
Desk Publisher is a authorized person of The Goandhigiri. He/She re-scrip, edit & publish the post online. Pls, contact thegandhigiri@gmail.com for any issue.
You May Also Like This News
the gandhigiri news app

Latest News Update

Most Popular