कमलनाथ के लेटर बम के बाद भाजपा पहुंचेगी सुप्रीम कोर्ट, दूसरा कर्नाटक बनाने की चाल

कमलनाथ, मुख्यमंत्री कमलनाथ, राज्यपाल लालजी टंडन, मध्यप्रदेश विधानसभा, Kamal Nath, Chief Minister Kamal Nath, Governor Lalji Tandon, Madhya Pradesh Legislative Assembly

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राज्यपाल लालजी टंडन को छ: पन्नों का एक पत्र सौंपा जिसमें उन्होंने विधायकों को बंधक बनाए जाने का हवाला देते हुए कहा कि जब तक विधायक बंधक हैं, फ्लोर टेस्ट का कोई औचित्य ही नहीं है। सीएम कमलनाथ ने फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया को पूर्ण रूप से अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक करार दिया।

मध्यप्रदेश विधानसभा में सोमवार को सत्र शुरू होते ही सभी को उस पल का इंतजार था जब फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया शुरू हो और कौन सी पार्टी बहुमत मेंं है, यह साबित हो सके। लेकिन सत्र की शुरूआत में राज्यपाल लालजी टंडन का अभिभाषण होने के पश्चात सदन में हंंगामा शुरू हो गया।

कमलनाथ, मुख्यमंत्री कमलनाथ, राज्यपाल लालजी टंडन, मध्यप्रदेश विधानसभा, Kamal Nath, Chief Minister Kamal Nath, Governor Lalji Tandon, Madhya Pradesh Legislative Assembly

इस शोर-शराबे के बीच अचानक विधानसभा स्पीकर एनपी प्रजापति ने घोषणा करते हुए कहा कि विधानसभा सत्र आगामी 26 मार्च तक के लिए स्थगित की जाती है। अचानक सत्र के स्थगन आदेश की घोषणा से हंगामा और तेज हो गया।

विदित है कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ दर्जनों भाजपा विधायकों की राज्यपाल से हुए मुलाकात के बाद शनिवार रात लालजी टंडन ने निर्देश जारी किए, कि सोमवार से शुरू हो रहे सत्र में कांग्रेस को बहुमत साबित करना है। विधानसभा अध्यक्ष द्वारा सत्र स्थगित की कार्यवाही को राज्यपाल के आदेश की अवहेलना भी माना जा रहा है।

वहीं भाजपा इस मुद्दे को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचेगी। मध्य प्रदेश की सत्ता हथियाने के युद्ध में चल रही सभी राजनीतिक चालें देख कर कर्नाटक की याद आती है। मध्य प्रदेश से पहले कर्नाटक में कांग्रेस सरकार की सत्ता पलटने के लिए भाजपा ने इसी तरह चालें चली थीं।

यह भी पढ़ें: 7 महीने बाद बेटे उमर अब्दुल्ला से मिल भावुक हुए फारूक अब्दुल्ला

Dipak Pandey is freelancer journalist from Lucknow district of Uttar Pradesh state in India. He is native of Allahabad district. He has worked with many reputed news channels and digital media platform. Contact him with email : dp362031@gmail.com, or mobile : 9125516663.