कश्मीर की सियासत: महबूबा हिरासत में, पीडीपी सांसद बगावत पर

कश्मीर की सियासत: महबूबा हिरासत में, पीडीपी सांसद बगावत पर, Politics of Kashmir, Mehbooba Mufti in custody, PDP MP on rebellion

श्रीनगर: बर्फबारी के बीच कश्मीर भले ही शीत लहर की चपेट में हो, लेकिन पीडीपी के भीतर जारी उठा-पठक ने राज्य का सियासी का पारा गर्म कर दिया है। पार्टी अध्यक्षा महबूबा मुफ्ती करीब तीन माह से हिरासत में हैं और इस बीच पार्टी नेताओं में खींचतान लगातार बढ़ती जा रही है।

राज्यसभा सदस्य नजीर अहमद लावे को पार्टी से निष्कासन के आदेश ने इस अंतर्कलह को पूरी तरह सतह पर ला दिया है। पीडीपी सांसद के समर्थक सवाल उठा रहे है कि निष्कासन तो यूरोपियन यूनियन के सांसदों से मिलने वाले पार्टी संरक्षक मुजफ्फर हुसैन बेग का होना चाहिए था। स्वंय लावे ने भी अपने निष्कासन को नकार दिया है।

उन्होंने साफ कहा कि इस तरह का ऐलान करने वालों को अपनी कोई हैसियत नहीं है। उन्होंने कहा कि पहले बेग को बर्खास्त करो। गौरतललब है कि पीडीपी विशेष दर्जे की सियासत करती रही है।

जम्मू-कश्मीर के पुनगर्ठन के बाद से पीडीपी नेता सियासी एजैंडा तय नहीं कर पा रहे हैं। महबूबा सहित पार्टी के कई प्रमुख नेता हिरासत में हैं। इसको आधार बना कर पार्टी ने बी.डी.सी. चुनावों का भी बहिष्कार किया था।

पीडीपी नेता सभी कार्यक्रमों से किनारा कर रहे हैं। इस सबके बीच पार्टी का एक धड़ा बदले हालात में नई सियासत शुरु करना चाहता है। संगठन में उभर रहे इन्हीं मतभेदों के चलते महबूबा से पार्टी नेताओं की मुलाकात दो बार स्थगित हो चुकी है।

ऐसे में राज्य सभा सांसद नजीर अहमद लावे के निष्कासन के ऐलान ने अंतर्कलह को बढ़ा दिया है। नजीर अहमद लावे ने गत माह दिल्ली में यूरोपीय संघ के प्रतिनिधियों से मुलाकात की थी। इस मुलाकात के दौरान पी.डी.पी. के सरंक्षक और पूर्व उप-मुख्यमंत्री मुजफ्फर हुसैन बेग भी शामिल थे।

इस मुलाकात के बाद जम्मू क्श्मीर की सियासत में हचलच बढ़ा गई। इसके बाद जम्मू-कश्मीर के पहले उप-राज्यपाल जी.सी.मुर्मू के शपथ ग्रहण में भी लावे मौजूद रहे। समारोह में भाग लेने वाले वह एकमात्र गैर-भाजपा नेता थे। इसके पश्चात पी.डी.पी. ने उन्हें पार्टी से निष्कासित करने का आदेश जारी कर दिया।

यह भी पढ़ें: पूरे पंजाब में खुशी के दीए जलाओ, पराली नहीं: कैप्टन अमरेंद्र सिंह

the gandhigiri, whatsapp news broadcast

the gandhigiri app download, thegandhigiri  
Dipak Pandey is freelancer journalist from Lucknow district of Uttar Pradesh state in India. He is native of Allahabad district. He has worked with many reputed news channels and digital media platform. Contact him with email : dp362031@gmail.com, or mobile : 9125516663.