33 लाख रोजगार देने के दावे पर योगी सरकार को विपक्ष ने ऐसा घेरा कि बोलती बंद हो गई

यूपी बजट सत्र, सबका साथ सबका विश्वास, योगी सरकार, बेरोजगारी, यूपी विधानसभा, UP Budget Session, Sabka Saath Sabka Viswas, Yogi Government, Unemployment in UP, UP Legislative Assembly

लखनऊ। सत्र के दौरान “सबका साथ सबका विश्वास” वाला बजट बता कर पूर्वर्ती सपा सरकार पर निशाना साधने वाले यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ को विधानसभा के अंदर ही बेरोजगारी के मुद्दे पर सपाइयों ने ऐसा घेरा की बोलती बंद हो गई। हमला इतना जबरदस्त था कि सत्ताधारियों ने चुप रहने में ही भलाई समझी।

विपक्षी हंगामे के बीच बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में अपना बजट भाषण पढ़ा। सीएम योगी ने कहा कि, भाजपा सरकार आने के बाद से प्रदेश में ढाई लाख से अधिक का निवेश आया है। 33 लाख से अधिक युवाओं के लिए रोजगार सृजित किया है, लेकिन जब विपक्ष ने उनसे आंकड़ा देने को कहा तो चुप्पी साध ली।

up budget 2020, cm yogi

इससे पहले सीएम योगी ने जातिवाद, शिक्षा, स्वास्थ्य, विकास कार्य, किसान समस्या, बेरोजगारी जैसे कई मुद्दों पर पूर्ववर्ती समाजवादी पार्टी की सरकार को नाकाम साबित करने की कोशिश की। सीएए, एनआरसी के मुद्दे को भी उठाते हुए सीएम ने विपक्ष पर तंज कसा और जनता में भ्रम फैलाने का आरोप लगाया।

यह भी पढ़ें: दिल्ली में दंगाइयों को सबक सिखाने के लिए असदुद्दीन ओवैसी ने उठाई यह मांग

विधानसभा में समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने बेरोजगारी के आंकड़ों और जनगणना के मुद्दे को लेकर जमकर हंगामा किया। सपा सदस्यों के हंगामे को देखते हुए सदन की कार्यवाही दो बार स्थगित करनी पड़ी।

सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सपा के सदस्यों ने नियम 56 के तहत सरकार से यह जानना चाहा कि उप्र में अभी तक कितने इन्वेस्टर्स शामिल हुए हैं? उनसे कितना निवेश हुआ है? कितने बेरोजगार लोगों को रोजगार मिला है? सरकार की तरफ से इसका कोई जवाब न मिलने पर सपा सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया।

यूपी बजट सत्र, सबका साथ सबका विश्वास, योगी सरकार, बेरोजगारी, यूपी विधानसभा, UP Budget Session, Sabka Saath Sabka Viswas, Yogi Government, Unemployment in UP, UP Legislative Assembly

रामगोविंद चौधरी ने कहा कि सरकार चाहती है कि यदि सदन की कार्यवाही बाधित होती है तो इसका ठीकरा विपक्ष पर ही फोड़ दिया जाए लेकिन विपक्ष पूरी तरह से सतर्क है। सरकार को सदन के भीतर बेरोजगारी के आंकड़ो के बारे में जानकारी देनी पड़ेगी।

नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा की योगी सरकार अभी तक पिछली सपा सरकार के समय निकली रिक्तियों को भी नहीं भर पाई है। सदन में सरकार को बेरोजगारी के आंकड़ों पर जवाब देना होगा। साथ ही सपा नेता ने कहा कि जातिगत जनगणना की मांग को लेकर सदन से सड़क तक लडेंगे।

मीडिया से बातचीत करते हुये सपा नेता और नेता प्रतिपक्ष चौधरी ने कहा की सरकार को जातिगत जनगणना कराकर लाभार्थियों को आरक्षण का लाभ देना चाहिए। सरकार बेरोजगार युवाओं को केवल गुमराह कर रही है।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस लालटेन जला कर ढूंढेगी भाजपा सरकार का विकास कार्य

Dipak Pandey is freelancer journalist from Lucknow district of Uttar Pradesh state in India. He is native of Allahabad district. He has worked with many reputed news channels and digital media platform. Contact him with email : dp362031@gmail.com, or mobile : 9125516663.