Home Khel Samachar Video: युवाओं को कुश्ती लड़ता देख बुजुर्गों को आया जोश, फिर शुरू...

Video: युवाओं को कुश्ती लड़ता देख बुजुर्गों को आया जोश, फिर शुरू हुआ ‘दादागिरी’

253

thegandhigiri-news-app-may-2020

बलिया: नागपंचमी के मौके पर यूपी के बलिया जिले के जनपद बेल्थरा तहसील क्षेत्र के गौवापार क्षेत्र में विशाल दगंल (Dangal) और चिकाही (Chikahi) खेल का आयोजन किया गया। यहां एक दर्जन पहलवानों के बीच जमकर कुश्ती हुई। वहीं, युवाओं का दंगल देख बुजुर्गों में भी जोश उबाल मार उठा। इसके बाद 60 वर्ष से लेकर 73 वर्ष के बुजुर्गों ने अपनी जवानी के दिनों को याद करते हुए दो-दो हाथ किये।


चिकही खेल में ग्रामीण युवाओं ने खेल का प्रदर्शन कर दर्शकों का मन मोह लिया। कुश्ती के प्रथम प्रतियोगिता प्यारे लाल यादव और मिठाई लाल के बीच हुई कुश्ती बराबरी पर जाकर रुक गई। वहीं दूसरी दगंल (Dangal) प्रतियोगिता मंजेश यादव और मिट्ठू पहलवान के बीच हुई जिसमें मिट्ठू पहलवान विजई हुए।

बुजुर्ग पहलवानों में सबसे ज्यादा उम्रदराज़ 73 वर्षीय अदालत पहलवान और 62 वर्षीय रामजन्म पटेल के बीच भी दंगल हुआ। इसके आलावा भी वहां मौजूद बुजुर्ग पहलवानों ने दंगल खेला।

श्रद्धा भक्ति भावना से नागपंचमी मनाया गया साथ ही नागपंचमी के दिन घर-घर नागदेवता व महादेव की पूजा अर्चना की जाती है। बताते चलें कि नागपंचमी की तैयारी लोगों ने एक दिन पहले यानी शुक्रवार को ही कर ली। बाजार में नागदेवता की फोटो व पूजा सामग्री की खरीदारी की।

हिन्दू मान्यताओं के मुताबिक हर साल श्रावण मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी के दिन नागपंचमी मनाया जाता है। इस बार 25 जुलाई नागपंचमी मनाया गया उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र के बाद हस्त नक्षत्र रहेगा। इस दौरान मंगल वश्चिक लग्न में होंगे।

खास संयोग यह है कि इसी दिन कल्कि भगवान की जयंती भी पड़ रही है। इसी दिन विनायक चतुर्थी व्रत का पारण होगा। पंडित संतोष द्बिवेदी ने बताया कि नागपंचमी के दिन नाग देवता के स्वरूपों की पूजा की जाती है।

ऐसी मान्यता है कि नाग देवता की पूजा करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं। साथ ही मनचाहा वरदान का फल भी मिलता है। इसके अलावा जिन जातकों पर काल सर्प का दोष है। उनके लिए भी नागपंचमी अहम माना गया है।

इस दिन सर्पों की पूजा करने से नाग देवता प्रसन्न होते हैं। काल सर्प दोष से ग्रसित जातकों को दोष से मुक्ति मिलती है। जिन जातकों की कुंडली में कालसर्प दोष है, उन्हें तो विशेष तौर पर नागपंचमी के दिन विशेष पूजा-अर्चना किया।

dangal

चिकही प्रतियोगिता में नन्दलाल यादव, राहुल यादव, बृजेश यादव, पंकज यादव, रोशन, राजेश, राहुल,बजरंगी, सचिन यादव, संजय कुमार, अभिषेक यादव ने जोर पकड़ किया।

दंगल प्रतियोगिता व चिकही प्रतियोगिता का आयोजन सेवानिवृत्त परिवहन विभाग सीनाथ यादव ने पहलवानों व खिलाड़ियों को सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर दयाशंकर यादव, पप्पू यादव, रामभुवन यादव, रीखदेव पहलवान, उमाशंकर यादव आदि लोग उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें

सीएम हाउस के पास पिस्टल और कट्टा लेकर घूम रहे 2 युवकों को पुलिस ने किया गिरफ्तार