Home Rajnitik Khabar बिजली के दाम बढ़ाये जाने पर योगी सरकार को भारतीय किसान यूनियन...

बिजली के दाम बढ़ाये जाने पर योगी सरकार को भारतीय किसान यूनियन का अल्टीमेटम

50
bhartiya kisan union on protest in lucknow, विद्युत नियामक आयोग, उत्तर प्रदेश में बढ़ी बिजली की दरें, भाकियू, किसान धरने पर, लखनऊ

thegandhigiri-news-app-may-2020

उत्तर प्रदेश में बढ़ी बिजली की दरों के विरोध में किसान धरने पर बैठ गये हैं. भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के सैकड़ों लोग प्रदेश के विद्युत नियामक आयोग के बाहर अपनी लिखित शिकायत लिए बैठे हैं. अनिश्चितकाल के लिए धरने पर बैठे किसानों की मांग है कि सरकार बिजली की दरों को न बढ़ाये. इसके साथ ही कृषि क्षेत्र में प्रयोग होने वाली बिजली किसानों को निशुल्क दी जाये. भारी संख्या में आयोग के बाहर किसानों के इकट्ठा होने से पुलिस प्रशासन भी अलर्ट हो गया है.

राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर में स्थित विद्युत नियामक आयोग के बाहर सैकड़ों किसान अनिश्चितकाल के लिए धरने पर बैठे हैं. भारतीय किसान यूनियन के मंडल अध्यक्ष हरिनाम सिंह वर्मा का कहना है कि वो आयोग में सुनवाई के लिए आये हैं. लखनऊ मंडल में बिजली की दरें बढ़ाये जाने को लेकर आज आयोग में सुनवाई है. करीब 50 से ज्यादा ट्रैक्टर गाड़ियों में सवार किसान अपने साथ पकाने-खाने की सामग्री और बर्तन भी लाये हैं. उनका कहना है कि जब तक किसानों की समस्याओं का कोई ठोस समाधान नहीं निकलता तब तक सैकड़ों किसान आयोग के बाहर धरने पर बैठे रहेंगे. प्रशासन ने जनसुनवाई में किसानों की बात को रखने का आश्वासन दिया है.

बिना सुने अगर आयोग ने फैसला दिया तो होगा भारी विरोध

भाकियू मंडल अध्यक्ष हरिनाम सिंह का कहना है कि जिन अदालतों पर सरकार का अंकुश होता है वहां से न्याय नहीं मिल सकता. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर आयोग ने किसानों को सुने बिना बिजली की दरों को बढ़ाया तो वो आदेश आयोग से बाहर तक नहीं आने देंगे. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में बढ़ी बिजली की दरों से सभी वर्ग के लोग सहमत नहीं हैं. योगी सरकार को अल्टीमेटम दिया है कि अगर फिर भी बिजली की बढ़ी दरों को लागू किया गया तो आने वाली 25 तारीख को किसान बड़ा आंदोलन छेड़ेंगे.

अन्य ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें