होम States | राज्य बार बाला के साथ डांस करते वक्फ नाहरशाह वली दरगाह के सदर...

बार बाला के साथ डांस करते वक्फ नाहरशाह वली दरगाह के सदर अरब अली पटेल का वीडियो वायरल, वक्फ बोर्ड सख्त

168
sadar-arab-ali-patel-waqf-naharshah-wali-dargah-dancing-with-bar-bala-viral-video
The-Gandhigiri-tg-website-designer-Developer-lucknow

भोपाल। शादी समारोह में बार बाला (Bar Bala) के साथ ठुमके लगाना वक्फ नाहरशाह वली दरगाह (Waqf Naharshah Wali Dargah) के सदर अरब अली पटेल (Arab Ali Patel) को महंगा पड़ता नजर आ रहा है। मध्य प्रदेश वक्फ बोर्ड के पास पहुंची इस मामले की शिकायत के बाद बोर्ड ने पटेल के खिलाफ कार्यवाही करने का मन बना लिया है।

अरब अली पटेल (Arab Ali Patel) के खिलाफ इससे पहले भी गबन और अव्यवस्थाओं को लेकर कई आरोप लग चुके हैं। लेकिन एक धार्मिक स्थल के अध्यक्ष पद पर रहते हुए अनैतिक व्यवहार उनके लिए पद से हटने और सामाजिक रुसवाई का कारण बनने वाला है।

मध्य प्रदेश वक्फ बोर्ड (Madhya Pradesh Waqf Board) के सीइओ जमील खान ने कहा कि इस मामले में अखबारों, न्यूज चैनलों और सोशल मीडिया के जरिये जानकारी मिली थी।

भाजपा नेता का ‘चरण वंदना’ करते एमपी पुलिस अधिकारी का वीडियो हुआ वायरल, लोगों ने कहा, “नतमस्तक प्रणाम करो, प्रमोशन जल्दी मिलेगा”

इसके अलावा इंदौर जिला वक्फ कमेटी अध्यक्ष और शहरवासियों की तरफ से भी इस तरह की शिकायतें उनके पास आई हैं। जिसके बाद बोर्ड द्वारा अरब अली के खिलाफ कार्यवाही करने की तैयारी कर ली है।

जमील खान ने कहा कि वक्फ के मामले धार्मिक आस्थाओं और रिवाजों से जुड़े हैं। ऐसे में इसके निगराह और जिम्मेदार का नैतिक व्यवहार बहुत ही सधा हुआ होना चाहिए।

सामाजिक तौर पर उसकी अनैतिक छवि संबंधित वक्फ और कमेटी के लिए भी नुकसान का कारण बन सकती है। साथ ही इस धार्मिक स्थल से जुड़ी लोगों की आस्थाएं भी प्रभावित होने के हालात बन सकते हैं।

सीइओ ने कहा कि वक्फ दरगाह नाहरशाह (Waqf Naharshah Wali Dargah) वली के अध्यक्ष अरब अली पटेल को लेकर पूर्व में भी कई शिकायतें बोर्ड को मिली थीं, जिन्हें लेकर उन्हेंं आचरण सुधारने और व्यवस्था को दुरुस्त रखने की ताकीद की गई थी।

पीएम मोदी बोले, ‘तिरंगे का अपमान देख देश बहुत दुखी हुआ’, जनता बोली ‘मन की बात’ भी राजनीतिक नफा-नुकसान देख कर करोगे क्या?

इसके बावजूद ताजा मामला किसी तरह माफ किए जाने लायक नहीं है। जिसके चलते अरब अली का निष्कासन कर इस वक्फ के लिए नई कमेटी बनाई जाएगी।

जमील खान ने कहा कि अरब अली के खिलाफ की जाने वाली कार्यवाही भविष्य में वक्फ जिम्मेदारों के लिए दलील बने ऐसे प्रयास किए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि भविष्य में बनाई जाने वाली कमेटियों के लिए इस बात की अनिवार्यता भी लगाई जाएगी कि कमेटी शामिल होने वाले सभी लोगों के चरित्र प्रमाण पत्र और उनका भौतिक सत्यापन कराया जाए।

वक्फ दरगाह नाहरशाह वली के सदर अरब अली पटेल अपनी नियुक्ति के दौर से ही विवादों में रहे हैं।

असमय उर्स कराने, उर्स के दौरान अवैध तरीके से वसूली करने, चंदे की राशि का हिसाब गड़बड़ करने और दरगाह की आमदनी को अपने निजी खाते में रखने को लेकर उनकी कई शिकायतें बोर्ड तक पहुंची हैं।

कांग्रेस शासनकाल में सीमित समय के लिए हुई उनकी नियुक्ति और बाद में इसके स्थायी किए जाने को लेकर भी भ्रष्टाचार की बातें सामने आ चुकी हैं।

अन्य बड़ी खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें

the-gandhigiri-telegram-channel