Home Rajya Samachar कहां से कहां तक चलेंगी विशेष ट्रेनें, कैसे होगी बुकिंग और कैसे...

कहां से कहां तक चलेंगी विशेष ट्रेनें, कैसे होगी बुकिंग और कैसे कर सकेंगे सफर?

77
the-gandhigiri-news-app-may-2020

नई दिल्ली: भारतीय रेलवे कल से ट्रेनों का संचालन शुरू करने जा रहा है। लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान रेलवे अपने पहले चरण में सिर्फ विशेष ट्रेनों (Special Trains) का ही संचालन कर रहा है। 15 ट्रेनों के आने-जाने के 30 फेरो से यह संचालन शुरू होगा।

लॉकडाउन (Lockdown) में यह विशेष ट्रेनें (Special Trains) नई दिल्ली स्टेशन से डिब्रूगढ़, अगरतला,हावड़ा, पटना, बिलासपुर रांची,भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बंगलुरू, चेन्नईतिरुअनन्तपुराम, मडगांव, मुम्बई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी तक ट्रेन चलेगी।

वहीं जबकि 20 हज़ार कोच कोविड-19 (Coronavirus) केयर सेंटर के लिये आरक्षित रहेंगे। साथ ही प्रतिदिन 300 ट्रेन प्रवासी श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलेंगी।

रेलवे इसके लिए आज शाम 4 बजे से आरक्षण ऑनलाइन सुविधा शुरू करने जा रहा है। केवल आईआरसीटीसी (IRCTC) की वेबसाइट पर ही बुकिंग होगी और टिकिट विंडो फिलहाल पूरी तरह बंद ही रहेंगी।

साथ ही फेस कवर पहनकर और स्क्रीनिंग में कोविड-19 (Coronavirus) के लक्षण नहीं मिलने पर ही कोई व्यक्ति रेल यात्र कर सकेगा।

“जिनके पास कन्फर्म रेल टिकट होगा, उन्हें कर्फ्यू पास की जरूरत नहीं”

गृह मंत्रालय ने रेल में सफर करने वाले यात्रियों के आवागमन के संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिया है, जिसके अनुसार केवल कंफर्म ई-टिकट वाले यात्री ही रेलवे स्टेशन में प्रवेश कर पाएंगे। वहां उनकी स्क्रीनिंग की जाएगी, जिनमें लक्षण नहीं हैं केवल वही यात्री यात्रा कर सकेंगे। इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाना अनिवार्य होगा।

मंगलवार से फिर नई दिल्ली से 15 ट्रेनें चलेंगी। कन्फर्म टिकट वाले यात्री ही यात्रा कर सकेंगे और इसके लिए उन्हें कर्फ्यू पास लेने की कोई जरुरत नहीं होगी। इस संबंध में गृह मंत्रालय ने सोमवार को बताया कि उन रेल यात्रियों को कर्फ्यू पास बनवाने की कोई जरुरत नहीं होगी जिनके पास कन्फर्म ई-टिकट है.

पिछले दिनों रेल पटरी पर हुए हादसे के बाद ऐसी अप्रिय हादसा फिर न हो, इसके लिए गृह मंत्रालय की ओर से यह भी कहा गया कि केंद्र ने राज्यों को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि प्रवासी मजदूर रेलवे पटरियों का इस्तेमाल न करें। साथ ही उनके लिए भोजन, आश्रय की व्यवस्था तब तक करें जब तक कि उनके लिए रेलगाड़ियों या बसों की व्यवस्था न की जा सके।

यह भी पढ़ें: भारत में इन दो महीने कोरोना करेगा मौत का तांडव, चेतावनी जारी

 

आज की ताजा खबर

शराब बिक्री: महज 6 दिनों में संक्रमण और मौत की दरों ने तोड़ा 42 दिनों का रिकॉर्ड, देश में खतरे की घंटी