NRC पर बोले मौलाना महमूद मदनी, पड़ोसी मुल्कों से आये हिन्दुओं को नागरिकता दो और मुसलमानों को भगा दो

एनआरसी (National Register of Citizens of India) पर देश में चल रहे बवाल के बीच मौलाना महमूद मदनी (Maulana Mahmood Madani) केे एक बयान से मामला और भी गरमा गया है। महमूद मदनी ने पड़ोसी मुल्कों के हिन्दुओं को नागरिकता (Citizenship) देने और देश में अवैध ढंग से बसे मुसलमानों को बाहर निकालने की बात कही है। मौलाना ने कहा कि उन्हें एनआरसी जैसे कानून पर बहुत ज्यादा एतराज नहीं है। उन्हें किसी दूसरे देश के मुसलमानों की जरूरत नहीं है।

पूर्व राज्य सभा सदस्य और जमियत उलेमा-ए-हिन्द (Jamiat Ulema-e-Hind) के महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने पाकिस्तान (Pakistan) और बांग्लादेश (Bangladesh) जैसे पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यक हिन्दुओं का भारत आने पर स्वागत किया है। मौलाना ने एक टीवी इंटरव्यू में कहा कि, अगर पड़ोसी मुल्कों के गैर मुस्लिम खुदको असुरक्षित महसूस कर रहे हैं तो भारत सरकार को उन्हें नागरिकता (Citizenship) दे देनी चाहिए। वहीं, बांग्लादेश जैसे मुस्लिम देशों से आकर भारत में बसे मुसलमानों को घुसपैठिया करार देकर बाहर निकालने को कहा है।

the gandhigiri app download, thegandhigiri

मौलाना महमूद मदनी (Maulana Mahmood Madani) ने कहा कि उन्हें किसी भी मुस्लिम देशों से आये मुसलमान की यहां जरूरत नहीं है। यदि कोई मुसलमान यहां अवैध तौर पर घुसपैठिया बन कर रह रहा है तो उसे हम सबको मिल कर बाहर निकाल देना चाहिए। एनआरसी (National Register of Citizens of India) का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा कि, हमें हिन्दू-मुसलमान में न बंट कर अपनी सोच को बदलना चाहिए।

अन्य ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply