होम Education | शिक्षा CM Yogi और रावत ने Digital Library का किया उदघाटन

CM Yogi और रावत ने Digital Library का किया उदघाटन

174
cm-yogi-and-rawat-inaugurate-digital-library
The-Gandhigiri-tg-website-designer-Developer-lucknow

देहरादून/लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) तथा उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत (CM Trivendra Singh Rawat) ने वर्चुअल माध्यम से यमकेश्वर, पौड़ी गढ़वाल स्थित महायोगी गुरु गोरक्षनाथ राजकीय महाविद्यालय की डिजिटल लाइब्रेरी (Digital Library) का उद्घाटन किया।

योगी वर्चुअल माध्यम से डिजिटल लाइब्रेरी के उदघाटन के लिये शामिल हुये। यह डिजिटल लाइब्रेरी यूनियन बैंक ऑफ इण्डिया द्वारा कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सबिलिटी (CSR) के तहत स्थापित की गयी है।

विकास की द्दष्टि जब तकनीक और आधुनिकता के साथ जुड़ती है, तब नये और व्यापक परिवर्तन दिखायी पड़ते हैं।

तमिलनाडु सरकार द्वारा CAA के विरोध में दर्ज 10 लाख केस वापस लेने पर मायावती ने सीएम योगी से क्या कहा?

महायोगी गुरु गोरक्षनाथ राजकीय महाविद्यालय की डिजिटल लाइब्रेरी (Digital Library) का शुभारम्भ उत्तराखण्ड सरकार की विकास के प्रति द्दष्टि और उसकी प्रतिबद्धताओं को दर्शाता है।

इसमें इस महाविद्यालय को राजकीय महाविद्यालय बनाये जाने का निर्णय भी शामिल है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड ने पिछले चार वर्षों के दौरान विकास की नई ऊँचाइयों को छुआ है।

‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ की रैंकिंग में उत्तराखण्ड राज्य ने सुधार किया है। राज्य के लोगों की भावनाओं के अनुरूप वहां की धार्मिक व सांस्कृतिक विरासत को अक्षुण्ण रखते हुए विकास के कार्य किये जा रहे हैं।

पेट्रोल-डीजल-सिलेंडर के बाद अब Adani Gas ने भी सीएनजी-पीएनजी की कीमतों को बढ़ाया

सीएम ने कहा केदारनाथ धाम और बद्रीनाथ धाम नये स्वरूप में उभरे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल मार्गदर्शन में उत्तराखण्ड में विकास के अनेक कार्य सम्पन्न हो रहे हैं

धैर्य, संयम, अनुशासन का परिचय देते हुए हरिद्वार महाकुम्भ आयोजित हो रहा है। योगी ने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 से पिछले एक वर्ष के दौरान पूरी दुनिया त्रस्त रही।

जन-धन की व्यापक हानि हुई, लेकिन पीएम मोदी द्वारा लिये गये निर्णयों व प्रयासों से देश कोविड-19 को नियंत्रित करने में सफल रहा। यहां की जनता सुरक्षित रही और आर्थिक गतिविधियां भी समयानुसार संचालित हुईं।

उत्तर प्रदेश में भी कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित किया गया, जिसकी सराहना देश-दुनिया में हुई। तकनीक का महत्व कोरोना काल में व्यापक पैमाने पर सामने आया।

अन्य बड़ी खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें

the-gandhigiri-telegram-channel