सोमवार, फ़रवरी 26, 2024
होमUTTAR PRADESH | उत्तर प्रदेशसामूहिक विवाह योजना का भंडाफोड़, शादीशुदा जोड़ों की फिर से कराई शादी,...

सामूहिक विवाह योजना का भंडाफोड़, शादीशुदा जोड़ों की फिर से कराई शादी, भाजपा मंत्री, विधायक ने दिया आशीर्वाद

गोण्डा। उत्तर प्रदेश के गोण्डा जिले में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना (Mukhyamantri Samuhik Vivah Yojana) के तहत कराई गई शादियों में बड़ा खेल सामने आया है। जिसमें मंत्री और क्षेत्रीय विधायक की मौजूदगी में पहले से शादीशुदा जोड़ों की शादी कराई गई। जिसके तहत कार्यक्रम के जरिये लाखों रूपये का बंदरबाट हुआ है।

गोण्डा जिले के छपिया विकास खण्ड में बीते बुधवार को मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना (Mukhyamantri Samuhik Vivah Yojana) के तहत 151 निर्धन कन्याओं का विवाह भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया।

कार्यक्रम में ऐसे जोड़ों को शादी के मंडप में बैठाया गया, जिनकी महीनों पहले ही शादी हो चुकी थी। दिलचस्प बात यह है कि, यह सब खुद उस विभाग के मुखिया की देखरेख में सम्पन्न हुआ।



बताते चलें कि, विकासखंड छपिया में बुधवार को सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन (Samuhik Vivah Yojana Uttar Pradesh) हुआ था। जिसमें परिवार समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री और क्षेत्रीय विधायक प्रभात वर्मा सहित भाजपा के जिला अध्यक्ष अमर किशोर बमबम की मौजूदगी में 151 कन्याओं का सामूहिक विवाह कराया गया।

इसके लिए क्षेत्र में बाकायदा कई दिनों से प्रचार-प्रसार किया जा रहा था। लेकिन जब शादी का दिन आया तो पहले से शादीशुदा जोड़ों की दोबारा वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ खुद समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री ने शादी कराई।

इतना ही नहीं, प्रदेश सरकार की ओर से निर्धन कन्याओं को शादी के दौरान दिए जाने वाले उपहार में भी जमकर खेल खेला गया।

उपहार में मिलने वाली शादी की किट, अनुदान धनराशि और गृहस्थी के लिये जरूरी सामान सहित सभी सामान को खंड विकास अधिकारी से लेकर ब्लाक प्रमुख तक हजम कर गए। जिसे लेकर शादी विवाह समारोह के बाद ब्लॉक परिसर में जमकर हंगामा भी देखा गया। अब इस मामले में कोई भी जिम्मेदार मुंह खोलने को तैयार नहीं है।

कन्हैया, श्रवण, पंकज, सलीम आदि ने बताया कि उनकी शादी कई महीने पहले ही हो चुकी है। जिन्हें एक बुधराम नामक व्यक्ति ने लालच देकर वहाँ बुलाकर मंडप में बिठाकर दोबारा शादी कराने का नाटक कराया।

बहरहाल इस मामले के सामने आने से अब तक हुए सामूहिक विवाह कार्यक्रमों में इस तरह के भ्रष्टाचार से इनकार नहीं किया जा सकता है। हालांकि इस मामले में सभी जिम्मेदार अपना मुह नहीं खोल रहे हैं।

Desk Publisher
Desk Publisher is a authorized person of The Goandhigiri. He/She re-scrip, edit & publish the post online. Pls, contact thegandhigiri@gmail.com for any issue.
You May Also Like This News
the gandhigiri news app

Latest News Update

Most Popular