Monday, August 15, 2022
build free websitebuild free website
HomeUTTAR PRADESH | उत्तर प्रदेशराम मंदिर निर्माण से कुछ लोगों का बंद हुआ राजनीतिक धंधा: सीएम...
free website builderfree website builder

राम मंदिर निर्माण से कुछ लोगों का बंद हुआ राजनीतिक धंधा: सीएम योगी

- 50% Discount Forever -TG-Web-Designing-Banner-ad

लखनऊ। गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर में आयोजित महंत दिग्विजय नाथ और महंत अवैद्यनाथ के श्रद्धांजलि समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्षियों पर निशाना साधा।

सीएम योगी ने कहा कि मोदी आए है जिसके कारण अयोध्या में राम मंदिर से संबंधित 500 साल के विवाद का समाधान हो गया। यही तो इनको समस्या थी। विवाद की आड़ में लोगों के खाने-कमाने का जरिया बंद हो गया और भारत को अपमानित करने का जो धंधा था वह भी बंद हो गया इसलिए उन्हें कैसे अच्छा लगेगा।

सीएम योगी शनिवार को युगपुरुष ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ की 52वीं व राष्ट्रसंत ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की 7वीं पुण्यतिथि पर आयोजित साप्ताहिक श्रद्धांजलि समारोह का शुभारंभ कर रहे थे।



सीएम ने कहा कि हर भारतीय वेद रामायण उपनिषद महाभारत के बारे में जानता है। इनमें वर्णित कथाएं और प्रसंग पढ़ने से हर भारतीय को अपने इतिहास को जानने की आवश्यकता नहीं पड़ती. हमारे वेद इस धरती के प्रति श्रद्धा का भाव बढ़ाने की प्रेरणा देते हैं। आजादी के पहले और बाद में जो बातें पढ़ाई गईं उसमें अंग्रेजों और वामपंथी इतिहासकारों के माध्यम से बताया कि हम आर्य बाहर से आये हैं।

वामपंथी इतिहासकारों ने इस तरह के काले अध्याय को डालकर जो कुत्सित प्रयास किया उसका देश ने लंबे समय तक परिणाम भोगा।सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राममंदिर निर्माण में आ रही समस्या हल होने से कुछ लोगों का राजनीति का धंधा बंद हो गया।एक कालखंड ऐसा था कि अयोध्या में विवाद खड़ा कर दिया गया कि अयोध्या में राम मंदिर है कि विवादित ढांचा।

नई डीएनए थ्योरी में पता चला है कि पूरे भारत का डीएनए एक है और इसीलिए भारत एक है। दुनिया की तमाम जातियां अपने मूल में समाप्त हो चुकी हैं पर भारत में फल फूल रही हैं। सीएम योगी ने कहा कि आज देश मे जीवन के सभी क्षेत्रों में परिवर्तन देखने को मिल रहा है।गोरक्षपीठ शैव परंपरा की पीठ है लेकिन वैष्णव परम्परा के श्रीराम मंदिर निर्माण में भी गोरक्षपीठ ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। सरकार के भरोसे जो समाज रहता है वो स्वावलम्बी और आत्मनिर्भर नहीं बन सकता।

सीएम ने किया कानपुर और आगरा मेट्रो की प्रोटोटाइप ट्रेन का वर्चुअल अनावरण
लखनऊ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि देश की सबसे बड़ी आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश के चार शहरों लखनऊ, गाजियाबाद, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में मेट्रो रेल का सफल संचालन किया जा रहा है।

कानपुर और आगरा में मेट्रो का काम लगभग पूरा हो चुका है। इसके साथ ही पांच अन्य प्रमुख शहरों गोरखपुर, वाराणसी, प्रयागराज, मेरठ और झांसी में मेट्रो के लिए डीपीआर तैयार है या अंतिम चरण में है। इन शहरों में भी पब्लिक ट्रांसपोर्ट की बेहतरीन सुविधा उपलब्ध होगी। सीएम योगी ने यह बातें आज शनिवार को गोरखनाथ मंदिर से कानपुर और आगरा मेट्रो की प्रथम प्रोटोटाइप ट्रेन का वर्चुअल अनावरण करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि आज हमारे लिए उल्लास का क्षण है। मेट्रो जैसा सुरक्षित और आरामदायक पब्लिक ट्रांसपोर्ट आज की आवश्यकता है। 30 नवम्बर के आसपास हम कानपुर और आगरा मेट्रो को देश को समर्पित करने की स्थिति में होंगे। प्रयास होगा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों से इसका शुभारंभ कराया जाए।

- 50% Discount Forever -TG-Web-Designing-Banner-ad
Naveen Kumar Vishwakarma
Mr. Naveen Vishwakarma is Indian Journalist working from Lucknow. He is working with The Gandhigiri as editor. Contact him via mail naveenkumar0461@gmail.com or call at 8181816481.
You May Also Like This News
- 50% Discount Forever -free website builder
the gandhigiri news app

Latest News Update

Most Popular

you're currently offline