रविवार, फ़रवरी 5, 2023
होमUTTARAKHAND | उत्तराखंडUttarakhand Clouds Burst: उत्तराखंड में फिर फटा बादल, चमोली में मची भारी...

Uttarakhand Clouds Burst: उत्तराखंड में फिर फटा बादल, चमोली में मची भारी तबाही

Uttarakhand Clouds Burst: उत्तराखंड के चमोली जिले में सोमवार को तड़के बादल फटने (Uttarakhand Clouds Burst) की घटना से तबाही मच गई है। जिले के नारायणबगड़ में तड़के बादल फटने की घटना में सीमा सड़क संगठन (BRO) के मजदूरों के करीब 15 टेंट मलबे में दब गए।

डाउनलोड करें "द गांधीगिरी" ऐप और रहें सभी बड़ी खबरों से बखबर

वहीं मलबे से कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे भी बंद हो गया है। मार्ग को खोलने का काम शुरू कर दिया गया है।

ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे जाम:

जानकारी के मुताबिक सोमवार सुबह नारायणबगड़ के पंती कस्बे के ऊपरी भाग में करीब 6 बजे बादल फटने से मंगरीगाड़ में आई बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है।

भारी भूस्खलन से कई रास्ते बंद हो गए हैं जिस कारण जाम में 200 से अधिक वाहनों के साथ हजारों रात्रि फंसे हुए हैं।

उत्तराखंड मौसम अपडेट:

चारधाम यात्रियों को सावधान रहने को कहा गया है। मौसम विभाग ने उत्तराखंड में पूरे हफ्ते बारिश होने की संभावना जताई है। वहीं, अधिकारियों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए हैं।

गधेरे (बरसाती नाले) के सैलाब से कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे के किनारे बीआरओ के मजदूरों के करीब 10 से 15 टेंट मलबे में दब गए। जब मलबा आया मजदूर अपने टेंट के अंदर थे, लेकिन जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ।

मजदूरों के परिजनों और स्थानीय लोगों ने तत्परता दिखाते हुए सभी बच्चों और महिलाओं को सैलाब से बचा लिया।

ये सभी मजदूर नेपाल और झारखंड के रहने वाले हैं। मलबे से कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे बंद हो गया है, जिसे खोलने के प्रयास जारी हैं।

प्रत्यक्षदर्शी लोगों ने बताया कई दोपहिया वाहन व कार भी मलबे में दबे हुए हैं। प्रशासन मौके पर पहुंच गया है। बचाव व राहत के कार्य शुरू कर दिए गए हैं।

मजदूरों और उनके बच्चों को गांव के लोगों ने अपने घरों में सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है। बादल फटने की घटना से पूरे क्षेत्र के लोग खौफजदा हैं।

स्थानीय जानकारों का कहना है कि नारायणबगड़ क्षेत्र भूगर्भीय दृष्टि से संवेदनशील है।

जिले के आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदकिशोर जोशी के मुताबिक घटना में जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ है।

कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे को खोलने का काम शुरू कर दिया गया है। प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई है।

Desk Publisher
Desk Publisher is a authorized person of The Goandhigiri. He/She re-scrip, edit & publish the post online. Pls, contact thegandhigiri@gmail.com for any issue.
You May Also Like This News
the gandhigiri news app

Latest News Update

Most Popular