Home Social Media Viral मंत्री के लड़के की पैंट गीली करने वाली लेडी सिंघम सुनीता यादव...

मंत्री के लड़के की पैंट गीली करने वाली लेडी सिंघम सुनीता यादव को जान का खतरा, लाइव वीडियो में किये कई खुलासे

361
gujrat-police-constable-sunita-yadav-life-threat-spoke-on-facebook-live

thegandhigiri-news-app-may-2020

सूरत: गुजरात की लेडी कांस्टेबल सुनीता यादव (Sunita Yadav) उस वक्त चर्चा में आईं जब उन्होंने लॉकडाउन के दौरान गुजरात के मंत्री कुमार कनानी के बेटे को नियमों का उल्लंघन करने पर सख्ती से कानून समझाने की कोशिश की।

मंदिर के पुजारी का आरोप, बीजेपी विधायक का भाई चप्पल चोर है, महिला श्रद्धालुओं से करता है छेड़छाड़

लेडी सिंघम सुनीता यादव ईमानदारी से अपनी ड्यूटी कर रही थीं, लेकिन यह बात मंत्री जी और उनके सुपुत्र को कैसे हजम हो पाती। क्यूंकि सभी नियम-कानून तो आम जनता के लिए है, मंत्री और उनके परिवारवालों के लिए नहीं।

सुनीता को उस रात सत्ता की धौंस दिखा कर बहुत दबाने की कोशिश की गई लेकिन लेडी सिंघम अपनी ड्यूटी से जरा भी टस से मस नहीं हुई। बेशक, इतनी हिम्मत केवल एक ईमानदार पुलिसकर्मी ही दिखा सकता है, फिर चाहे वो आईपीएस हो या कांस्टेबल।

आपदा को अवसर में बदलने की जल्दी में बाबा रामदेव पर एक और मामला दर्ज, चोरी से दूसरे का ट्रेडमार्क कर रहे थे इस्तेमाल

इस घटना के बाद सूरत के पुलिस आयुक्त आर बी ब्रह्मभट्ट ने शनिवार को इस मामले की जांच के आदेश दिए थे। सुनीता ने भी अपनी ड्यूटी से रिजाइन दे दिया है। मंत्री और सत्ताधारियों से सीधे भिड़ने की हिम्मत शायद पुलिस महकमा भी नहीं जुटा पा रहा है। इसलिए सुनीता को पब्लिक सपोर्ट के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेना पड़ रहा है।

शुक्रवार शाम सुनीता यादव (Sunita Yadav) ने फेसबुक लाइव (Facebook Live) के लिए बताया कि किस तरह उन्हें और उनके परिवारवालों को परेशान किया जा रहा है। सुनीता ने बताया की उनकी हर एक हरकत पर नजर रखी जा रही है। सुनीता के घरवालों को भी उनकी काफी चिंता लगी है। उन्हें डर है कि सुनीता के घर से बाहर निकलने पर अप्रिय घटना घट सकती है। इस वजह से उन्हें घर पर दो दिनों से कैद कर के रखा गया है।

सुनीता ने कहा कि, उनकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं है, वह सिर्फ अपनी ड्यूटी निभा रही थीं। उनका कहना है कि कुछ लोग गलती करके आजादी से घूम रहे हैं और वह ईमानदारी से अपनी ड्यूटी निभा कर घर में कैद हैं। सुनीता ने बताया की सूरत पुलिस से भी उन्हें कोई खास सपोर्ट नहीं मिल रहा है।

यह भी खबर पढ़ें

कोरोना संकट में बकरीद को लेकर महाराष्ट्र सरकार ने लिया यह बड़ा फैसला

एक ऐसा शहर जहां कोरोना केस बढ़ने पर लोगों ने खुदको सेल्फ लॉकडाउन किया

कोरोना को लेकर एक बेहद चिंताजनक बात आई सामने, चिकित्सक भी हुए हैरान